Home न्यूज गांधी के ग्राम स्वराज्य की परिकल्पना को धरातल पर उतारेगा जन सुराज,बिहार...

गांधी के ग्राम स्वराज्य की परिकल्पना को धरातल पर उतारेगा जन सुराज,बिहार में बेहतर विकल्प, बोले प्रवक्ता

Neelkanth

मोतिहारी। अशोक वर्मा
बिहार के लोग महागठबंधन और भाजपा से निराश हो चुके हैं। अब जन सुराज ही एक मात्र बेहतर विकल्प है। उक्त बातें आज जारी एक बयान में जन सुराज के मुख्य प्रवक्ता संजय कुमार ठाकुर ने कही । उन्होंने कहा कि भारत के महान राजनीतिक रणनीतिकार और कुशल चुनावी प्रबंधक प्रशांत किशोर पदयात्रा के माध्यम से गांव -गांव घूमकर लोगों को इस बाबत जगाने में जुटे हुए हैं। उन्होंने कहा है कि जिले में साठ हजार से अधिक जन सुराजी कार्यकर्ता तैयार हो चुके हैं जो बिहार की लकवाग्रस्त व्यवस्था को बदल कर जन सुराज की सरकार बनाने को आतुर हैं। श्री ठाकुर ने कहा कि बिहार की गूंगी नीतीश – तेजस्वी की सरकार ने शिक्षा व्यवस्था को चौपट कर दी है, खेती किसानी घाटे का कारोबार है तो बेरोजगारी चरम पर है।

 

विधि व्यवस्था बदतर है और हर तरफ अपराधियों और माफियाओं का बोलबाला है। चोरी, डकैती,लूट, हत्या इस सरकार की फितरत सी हो गई है।हर गांव में धड़ल्ले से शराब उपलब्ध है। शराबबंदी कानून पूरी तरह विफल है और सरकार के संरक्षण में एक नया अर्थतंत्र विकसित हो रहा है और सरकार को पांच हजार करोड़ रुपए का सालाना घाटा हो रहा है सो अलग। लालू – नीतीश और मोदी की सरकार ने बिहार के विकास के लिए कुछ भी नहीं किया है।

 

कल कारखानों के अभाव में यहां से रोज़ मजदूरों का पलायन जारी है। आगामी चुनावों में महागठबंधन और भाजपा नीत एनडीए सरकार को जबर्दस्त चुनौती की तैयारी में जुटे हुए हैं जिले के जन सुराजी। अभिभावक मण्डल के अध्यक्ष राजाराम कुशवाहा, सभापति मो. असलम, जिला अध्यक्ष बीर प्रसाद महतो, महासचिव संगठन जय मंगल कुशवाहा, अभियान समिति के संयोजक आलोक शर्मा, प्रवक्ता डॉ मंजर नसीम, सभी अनुमंडल अध्यक्ष समेत सभी जन सुराजी संगठन को मजबूत बनाने में सक्रिय भूमिका निभा रहे हैं।

Previous articleमोतिहारी में नमामि गंगे योजना के तहत चार सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट व ड्रेनेज निर्माण की तैयारी शुरू
Next articleप्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय सेवा केंद्र का निर्माण अंतिम चरण में