Home न्यूज जिला मुखिया संघ की बैठक में केन्द्र व राज्य सरकार पर लगाये...

जिला मुखिया संघ की बैठक में केन्द्र व राज्य सरकार पर लगाये गये ये आरोप

Neelkanth

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
जिला मुखिया संघ की बैठक डाक बंगला परिसर में जिलाध्यक्ष शशि भूषण सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई। बैठक में शामिल मुखिया लोगों ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया किम सभी मुखिया किसी भी राजनीतिक दल का झंडा नही लगाएंगे ना ही किसी राजनीतिक दल की बैठक में शामिल होंगे। सभी विधायकों को घेरने का , जब सांसद विधायक को राशि आवंटित की जाती हैं उसके लिए कोई जीपीडीपी नहीं कोई थीम एनएचआई तो पंचायत को आवंटित राशि पर केंद्र और राज्य सरकार का अड़ंगा क्यों। हर बुधवार को पंचायत की कार्यान्वित योजना की जांच होती है। सांसद, विधायक, विधान परिषद की योजनाओं की जांच क्यांे नही केंद्र सरकार और राज्य सरकार ग्राम सभा में अड़ंगा क्यों लगा रही। गांधी जी का सपना था कि ग्राम सभा स्वतंत्र रूप से निर्णय करने को स्वतंत्र है परन्तु राज्य सरकार व केन्द्र सरकार ग्राम सभा को खत्म करने की साजिश कर गांधी जी के ग्राम स्वराज्य का मटियामेट कर रही है।

उक्त बातें प्रदेश सचिव राजू बैठा ने मुखिया लोगो को संबोधित करते हुए कही। सभी मुखिया लोगो ने निर्णय लिया की केंद्र सरकार एवम राज्य सरकार के बेवजह अड़ंगा के विरूद्ध आडोलन करने, विधान सभा का घेराव करने, सभी विधायकों विधान परिषद का घेराव करने, सरकार के गलत नीतियों का विरोध करने सहित पंचायत सरकार भवन निर्माण ग्राम पंचायत को सौंपने, सोलर लाइट का प्रशासनिक स्वीकृति नहीं देने आदि मुद्दे पर विचार विमर्श किया गया बैठक अजय यादव अधक्ष केसरिया, गोपाल राय अध्यक्ष आदापुर, सोनालाल सहनी अध्यक्ष सुगौली, प्रेम किशोर यादव अध्यक्ष बनकटवा, रामनाथ याडव पिपरा कोठी अध्यक्ष संजय दुबे अध्यक्ष अरेराज, पप्पू यादव अध्यक्ष तेतरिया, उपेंद्र पासवान, प्रभात कुमार, अनिल कुमार, प्रदीप सह अशोक कुमार सर्वलाल सह, शंभू शरण प्रसाद, अशरफ आलम अजय कुमार साह हेमंत कुमार निरंजन प्रकाश, मैनेजर सहनी भागीरथ प्रसाद कुशवाह , गायत्री देवी, राजाराम कुमार सुनील सहनी नथुनी महतो नथुनी महतो बालेश्वर कुशवाहा सुरेंद्र राय सहित सैकड़ों मुखिया गण भाग लिए। बैठक का संचालन राजू बैठा मुखिया ने किया।

Previous articleतुरकौलिया में नाबालिग लड़की को सरेह में उठाकर ले गया युवक, किया रेप
Next articleनीतीश सरकार को बड़ा झटका, पटना हाई कोर्ट ने जातीय जनगणना पर लगाई रोक