Home न्यूज प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय से जुड़कर 25 वर्षों से सेवा देने वाले...

प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय से जुड़कर 25 वर्षों से सेवा देने वाले लोगों को किया गया सम्मानित

Neelkanth

मोतिहारी। अशोक वर्मा
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय से जुड़कर 25 वर्षों से ईश्वरीय ज्ञान में चलने वाले भाई-बहनों के सम्मान में आदापुर सेवा केंद्र द्वारा धबधबवा गांव में दिव्य एवं भव्य सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। उक्त अवसर पर मातोश्री भवन का उद्घाटन भी संपन्न हुआ । समारोह की अध्यक्षता हरकदम फाउंडेशन के निर्देशक यह स्थानीय निवासी राजन जायसवाल ने की तथा संपूर्ण कार्यक्रम का संचालन स्थानीय सेवा केंद्र प्रभारी बीके पूर्णिमा बहन ने किया।
आगत अतिथियों का स्वागत बीके चंदन भाई, बीके रंजन भाई, वीके गुडिया बहन, बीके आरती ने तिलक लगाकर एवं पुष्प गुच्छ देकर किया। भवन का उद्घाटन नेपाल राष्ट्र की ब्रम्हाकुमारी निर्देशिका राजयोगिनी बीके किरण दीदी ने किया।
उद्घाटन एवं सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए ब्रहमाकुमारीज नेपाल की क्षेत्रीय संचालिका एवं निर्देशक राजयोगिनी बीके किरण दीदी ने कहा कि परमपिता परमात्मा का अवतरण भारत की भूमि पर दादा लेखराज के साधारण तन मे1936 में हुआ। अवतरण के बाद उनके द्वारा नई दुनिया सतयुग का निर्माण कार्य चल रहा है, जो अब अंतिम चरण में है। जिन आत्माओं ने परमात्मा को पहचान उनके कार्य में सहयोगी बने वे निश्चित ही महान आत्मा है,यह साधारण बात नहीं है कि परमात्मा का सहयोगी बनकर वे नई दुनिया के निर्माण कार्य मे सहयोगी बने हैं ।आदापुर क्षेत्र के जिन भाई बहनों ने 25 वर्ष पूर्व परमात्मा को पहचाना और परमात्मा के नवनिर्माण कार्य में तन मन धन से लगे हैं ,उनमे बीके चंदेश्वर जायसवाल, बीके इंदु जायसवाल एवं बीके शोभा बहन है ।इन लोगों की सेवा अन्य भाई बहनों के लिए प्रेरणा स्वरूप भी है। लंबे समय से ये लोग परमात्मा के सहयोगी बन अविनाशी रूद्रज्ञानयज्ञ को दिनोदिन आगे बढाने मे सहयोगी बने हुये है । ये लोग अपने भाग्य को बनाने के साथ-साथ अन्य आत्माओं के लिए भी एक प्रेरणा स्वरूप है, ऐसे महान आत्माओं को दिल से बहुत-बहुत बधाई एवं धन्यवाद हैं। कार्यक्रम में पधारी बीरगंज सेवा केंद्र की प्रभारी राजयोगिनी बीके रवीना दीदी ने कहा कि भारत-नेपाल सीमावर्ती क्षेत्र आदापुर प्रखंड का यह सेवा केंद्र कई मायने में काफी महत्वपूर्ण है ।इसके यहां खुलने के बाद भारत और नेपाल दोनों देश के भाई बहनों को ईश्वरीय ज्ञान में आगे बढ़ने में काफी मदद मिल रही है ।उन्होंने सेवा केंद्र प्रभारी बीके पूर्णिमा सहित 25 वर्षाे से ईश्वरी ज्ञान में चलने वाले भाई बहनों को बधाई दी। काठमांडू से पधारे बीके राम सिंह भाई ने अपने संबोधन में कहा कि भगवान का कार्य अब अंतिम चरण में है , नई दुनिया सतयुग शीघ्र ही आरंभ होने वाली है। संबोधित करने वालों में कलेया से पधारी वरिष्ठ राजयोगिनी बीके मीना दीदी,बीके जमुना दीदी, बीके गुणराज भाई, छोटेलाल भाई ,बीके जितेंद्र भाई ,बीके गोवर्धन भाई ,ओम प्रकाश भाई थे। कार्यक्रम में उपस्थित रहने वालों में मुख्य रूप से बीके कलिता बहन, बीके मीरा बहन ,बीके रोशनी बहन, बीके चंदा बहन एवं अन्य भाई बहन थे ।कार्यक्रम के समापन पर 25 वर्षों से ईश्वरीय ज्ञान मैं चलने वाले भाई बहनों को विशेष रुप से सम्मानित किया गया।सभी को सम्मान का तिलक लगाकर, चुनरी ओढाकर पगडी टोपी पहनाया गया साथ साथ ईश्वरीय सौगात एवं माला भेंट की गई। कार्यक्रम में पधारे अन्य वरिष्ठ भाई बहनों के अलावा स्थानीय अतिथि गणों का स्वागत ईश्वरीय सौगात देकर किया गया। बीके राजन जायसवाल द्वारा काफी संख्या में बहनों को सम्मानित किया गया।
दो दिवसीय कार्यक्रम के दूसरे दिन आदापुर सेवा केंद्र पर आयोजित समारोह में काठमांडू नेपाल से आए हुए सभी भाई बहनों को भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष अशोक कुमार के द्वारा सम्मानित किया गया।
उक्त अवसर पर काठमांडू एवं नेपाल के विभिन्न सेवा केंद्रों से पधारे भाई बहनों के द्वारा जिला पार्षद रमेश सिंह एवं भाजपा प्रखंड अध्यक्ष के साथ-साथ अन्य भाई बहनों को सम्मानित किया गया।

Previous articleडॉ भीम राव अम्बेदकर पर केंद्रित परिचर्चा आयोजित, राजद प्रदेश उपाध्यक्ष ने कही यह बात
Next articleविश्व के महान भौतिकवादी दार्शनिक व सर्वहारा शिक्षक कार्ल मार्क्स की जयंती पर ऐक्टू जिला कमिटी की बैठक .