Home न्यूज मोतिहारी में भीड़ ने पुलिस टीम पर किया हमला, तीन सिपाही जख्मी,...

मोतिहारी में भीड़ ने पुलिस टीम पर किया हमला, तीन सिपाही जख्मी, यह है मामला

Neelkanth

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
कुंडवा चैनपुर में पुलिस टीम पर हमला कर दिया गया। भीड़ में शामिल लोगो के हमले में तीन सिपाही जख्मी हो गए। उन्हें इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एक सिपाही के सिर और छाती में गंभीर चोट आई है जिसे बेहतर इलाज के लिए हायर सेंटर रेफर कर दिया गया है। घटना के बाद पुलिस ने 18 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस इलाके में छापेमारी कर रही है।

जानकारी के मुताबिक पूर्वी चंपारण के कुंडवा चैनपुर थाना क्षेत्र के चौनपुर करोड़ी टोला में दो गुटों के बीच मारपीट हो रही थी। एक गुट चैनपुर का था जबकि दूसरा रोड घोड़ासहन थाना क्षेत्र के सिमरिया गांव का था। सोमवार की रात दोनों गुटों में खूनी झड़प हो रही थी। इस सूचना पर चैनपुर कुंडवा थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई और बीच-बीच में जुट गई। इसी दौरान आपस में लड़ रहे बंजारों की टोली ने पुलिस टीम पर हमला कर दिया। इसमें 3 सिपाही बुरी तरह जख्मी हो गए जबकि अन्य पुलिसकर्मी ने भागकर खुद को सुरक्षित किया।

घायल सिपाहियों की पहचान सुमन कुमार, अमित राज और जितेंद्र कुमार के रूप में हुई है। आनन-फानन में इन्हें अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचाया गया यहां से सुमन कुमार को हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। उसकी छाती और सिर में काफी गंभीर चोट लगी है। थानाध्यक्ष रमन कुमार ने बताया कि सभी घायलों का इलाज प्रॉपर वे में कराया जा रहा है।

जानकारी मिली है कि सिंगरहिया के एक बाइक चालक ने चैनपुर करौड़ी टोला के एक बच्चे को ठोकर मार दी। इस वजह से दोनों पक्षों के बीच जमकर मारपीट हो गई। मामूली सी बात पर ही दोनों लोग एक दूसरे की जान लेने पर उतारू हो गए। सूचना मिलने पर पुलिस टीम वहां पहुंची। लेकिन एक गुट ने पुलिस टीम पर ही हमला कर दिया।

पुलिस पर हमले की जानकारी मिलने पर कई थानों की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची और उसके बाद हंगामा शांत किया। थानाध्यक्ष रमन कुमार ने बताया है कि मारपीट कर रहे लोगों को अलग किया गया पुलिस पर हमला करने के आरोप में 18 लोगों को गिरफ्तार किया गय। उनसे पूछताछ की जा रही है। आरोपियों की तलाश में छापेमारी जारी है।

Previous articleचरस तस्करी में पकड़े गये कोलकाता के युवकों को कोर्ट ने पाया दोषी, 11 साल का कारावास
Next articleनयी शिक्षक नियमावली के विरोध में शिक्षकों ने निकाला प्रतिरोध मार्च, सरकार पर लगाया यह आरोप