Home न्यूज यौन शोषण के आरोपों में सांसद सह भारतीय कुश्ती महासंघ अध्यक्ष बृजभूषण...

यौन शोषण के आरोपों में सांसद सह भारतीय कुश्ती महासंघ अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह चौरतफा घिरे, कार्रवाई की मांग पर अड़े पहलवान

Neelkanth

नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क

यौन शोषण के आरोपों में भाजपा सांसद और भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह चौरतफा घिरते जा रहे हैं। महिला पहलवानों की तरफ से उन पर यौन शोषण का आरोप लगाने और मोर्चा खोलने के बाद सपा और कांग्रेस ने भी हमला बोल दिया है। सपा और कांग्रेस ने बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने और भारतीय कुश्ती महासंघ के अध्यक्ष पद से बर्खास्त करने की मांग की है।

बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ देश की नामी महिला पहलवान दो दिनों से दिल्ली के जंतर मंतर पर धरना दे रही हैं। खेल मंत्रालय की तरफ से महिला पहलवानों के साथ गुरुवार को बैठक कर बीच का रास्ता निकालने की कोशिश की गई लेकिन सफलता नहीं मिल सकी है। महिला पहलवान बृजभूषण शरण सिंह की बर्खास्तगी से कम पर मानने को तैयार नहीं हैं। कहा जा रहा है कि अब महिला पहलवान भी बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ एफआईआर कराने की तैयारी कर रही हैं।

बृजभूषण शरण सिंह उत्तर प्रदेश की कैसरगंज लोकसभा सीट से भाजपा सांसद हैं। इस मुद्दे पर भाजपा पर निशाना साधते हुए समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील सिंह साजन ने कहा कि इस खबर में सबसे ज्यादा परेशान करने वाली बात यह है कि ओलंपिक और अन्य प्रतियोगिताओं में हमारे देश के लिए खेलने वाली लड़कियों को अपने यौन उत्पीड़न के खिलाफ आज विरोध प्रदर्शन करना पड़ रहा है।

बर्खास्त करने का अनुरोध करता हूं, साथ ही उनके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए और उचित जांच की जानी चाहिए। मुझे आश्चर्य है कि उन सभी मामलों में भाजपा नेता आरोपी क्यों होते हैं, क्यों महिलाओं के खिलाफ अपराध होते हैं।’’
उत्तर प्रदेश कांग्रेस ने भी सिंह को डब्ल्यूएफआई से बर्खास्त करने की मांग की और कहा कि भाजपा के लिए यह साबित करने का समय आ गया है कि वे वास्तव में महिलाओं के खिलाफ अपराधों को लेकर गंभीर हैं।
कांग्रेस के क्षेत्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मंत्री नकुल दुबे ने बृहस्पतिवार को लखनऊ में ’पीटीआई-भाषा’ से बात करते हुए कहा कि डब्ल्यूएफआई बृजभूषण शरण सिंह को तुरंत बर्खास्त किया जाना चाहिए और उचित जांच के लिए प्राथमिकी दर्ज की जानी चाहिए। साथ ही भाजपा को उनके खिलाफ अनुकरणीय कार्रवाई करनी चाहिए और यह साबित करना चाहिए कि ’बेटी बचाओ’ जैसे नारे सिर्फ प्रचार के लिए नहीं हैं।
तीन बार की राष्ट्रमंडल चैम्पियन विनेश फोगाट और ओलंपिक कांस्य पदक विजेता बजरंग पूनिया तथा साक्षी मलिक समेत भारत के शीर्ष पहलवान जंतर मंतर पर लगातार दूसरे दिन धरने पर बैठे । वे डब्ल्यूएफआई अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे हैं जिन पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाये गए हैं।

Previous articleप्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय बेलबनवा सेवा केंद्र ने संस्थापक ब्रह्मा बाबा का 54वां अव्यक्त दिवस मनाया
Next articleबाली उमर में हुआ इश्क तो घर छोड़कर प्रेमी संग भागी, मगर स्टेशन पर धोखा दे भाग निकला आशिक