Home न्यूज यूजीसी की नई गाइडलाइंस, अब चार वर्षीय डिग्री कोर्सेज के लिए रिसर्च...

यूजीसी की नई गाइडलाइंस, अब चार वर्षीय डिग्री कोर्सेज के लिए रिसर्च इंटर्नशिप जरूरी, जानिए नई शिक्षा के तहत क्या हुए बदलाव

शिक्षा डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
नई शिक्षा नीति और स्टूडेंट्स को इंडस्ट्री की जरूरतों के हिसाब से तैयार करने के मकसद से विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) ने अहम फैसला किया है। यूजीसी की नई गाइडलाइंस के मुताबिक अब चार वर्षीय डिग्री कोर्सेज के दौरान रिसर्च इंटर्नशिप को अनिवार्य कर दिया गया है। यूजीसी ने उच्च शिक्षण संस्थान के शिक्षकों व शोध संस्थानों के शोधकर्ताओं के साथ नई शिक्षा नीति (एनईपी 2020) के तहत रिसर्च इंटर्नशिप गाइडलाइंस का मसौदा तैयार किया है। आयोग ने तय किया है कि रिसर्च इंटर्नशिप दो तरह की होगी। पहली इंटर्नशिप छात्र की रोजगार क्षमता बढ़ाने पर केंद्रित होगी जबकि दूसरी इंटर्नशिप छात्र की व्यक्तिगत रिसर्च योग्यता विकसित करने के लिए होगी।

मसौदे के मुताबिक, एनईपी 2020 के तहत तैयार किए गए नए कोर्स में डिग्री कोर्सेज में रिसर्च वाला भाग डालने पर जोर दिया गया है। खास तौर पर चार वर्षीय बैचलर कोर्स के चौथे साल में स्टूडेंट्स की रिसर्च संबंधी योग्यता बढ़ाने पर फोकस रहेगा।

इसके मुताबिक, प्रत्येक यूजी छात्र फर्स्ट ईयर के बाद 10 सप्ताह की अवधि की पहली रिसर्च इंटर्नशिप और यूजी डिग्री कार्यक्रम के सेकेंड ईयर के बाद 10 सप्ताह की अवधि की दूसरी रिसर्च इंटर्नशिप पूरा कर सकता है। जिस छात्र को रिसर्च के साथ चार साल की यूजी डिग्री कोर्स करना होगा, उसे 7वें सेमेस्टर के दौरान रिसर्च एबिलिटी एनहेंसमेंट कोर्स (आरईएसी) और 7वें और 8वें सेमेस्टर के दौरान रिसर्च प्रोजेक्ट वर्क को पूरा करना होगा। चार वर्षीय डिग्री प्रोग्राम के पूरा होने तक 40 क्रेडिट अंक होने चाहिए।
इतनी इंटर्नशिप होगी जरूरी
गाइडलाइंस में कहा गया है कि 8-10 सप्ताह की इंटर्नशिप जिनके 10 क्रेडिट्स होंगे, उन छात्रों के लिए अनिवार्य होगी जो क्रमशरू सर्टिफिकेट या डिप्लोमा के साथ कोर्स छोड़ना चाहते हैं। जो छात्र रिसर्च के साथ चार वर्ष का डिग्री कोर्स करना चाहते हैं, उन्हें एक वर्ष के रिसर्च वर्क के साथ 10 सप्ताह की इंटर्नशिप करनी होगी। जो छात्र चार वर्ष का अंडरग्रेजुएट प्रोग्राम (बिना रिसर्च) करना चाहते हैं, उन्हें भी कम से कम 8-10 सप्ताह की इंटर्नशिप करनी होगी।

चार वर्षीय डिग्री कोर्स में रिसर्च के छात्र इंडस्ट्री के अलावा रिसर्च इंस्टीट्यूट, रिसर्च लैब, रिसर्च एंड डेवलेपमेंट इंस्टीट्यूट, किसी भी विश्वविद्यालय या कॉलेज के रिसर्च प्रोफेसर के अधीनस्थ अपनी इंटर्नशिप कर सकेंगे।

Previous articleअगले साल रिलीज होगी साउथ की जबरदस्त फिल्मी पुष्पा पार्ट 2, अल्लू अर्जुन ने वसूल की मोटी फीस
Next articleबुद्ध पूर्णिमा के अवसर पर 16 मई को लुंबिनी जाएंगे पीएम मोदी