Home न्यूज शहीद दिवस व श्रीकृष्णबाबू पुण्य स्मृति दिवस पर उक्त तिथि पर मोतिहारी...

शहीद दिवस व श्रीकृष्णबाबू पुण्य स्मृति दिवस पर उक्त तिथि पर मोतिहारी में दो दिनी विकास महासम्मेलन

मोतिहारी। अशोक वर्मा
महात्मा गांधी के शहीद दिवस 30 जनवरी एवं श्रीकृष्ण बाबू की पुण्य स्मृति दिवस 31 जनवरी के अवसर पर उक्त तिथि पर मोतिहारी में दो दिवसीय सम्मेलन का आयोजन किया जायेगा। सम्मेलन मे जिले में उपलब्ध संसाधन आधारित रोजगार ,उद्योग एवं कृषि के विकास की संभावनाओं को तलाशा जाएगा ।


उक्त बातें नगर के नरसिंह बाबा मंदिर सभागार में आयोजित प्रेस कांफ्रेंस को संबोधित करते हुए अखिल भारतीय अभिभावक शिक्षक संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष मनीष कुमार शेखर ने कही। श्री शेखर ने कहा कि किसी भी क्षेत्र के विकास के लिए उस क्षेत्र में उपलब्ध संसाधन का अत्यधिक महत्व होता है, और बिना उसका सर्वेक्षण एवं पहचान किए क्षेत्र के विकास पर बातें करना बेमानी होगी। आजादी के बाद इस सूक्ष्म बातों की ओर ध्यान नहीं दिया गया। महात्मा गांधी ने भी चंपारण सत्याग्रह के दौरान कहा था कि चंपारण का विकास तभी संभव है, जब यहां सहज रूप से उपलब्ध संसाधनां का उपयोग कुटीर उद्योगों में किया जाएगा। महात्मा गांधी के शहादत तथा श्रीकृष्णबाबू की पूण्य स्मृति दिवस पर 30-31 जनवरी को मोतिहारी में विकास महा सम्मेलन के माध्यम से विचार एवं सुझाव आमंत्रित किया जायेगा।

श्री शेखर ने कहा कि जिले के महत्वपूर्ण स्थलों के विवरण के साथ ष्पूर्वी चम्पारण के धरोहरष् नाम से पुस्तक का लोकार्पण भी किया जायेगा।
शेखर ने कहा कि जिस प्रकार प्रत्येक व्यक्ति मे कुछ विशेष गुण होता है उसी प्रकार प्रत्येक क्षेत्र एवं प्रदेश तथा देश का अपना विशेष गुण होता है। विकास के लिए क्षेत्र के विशेष गुणों की पहचान कर उस दिशा में आगे बढ़ने से सफलता मिलती है। शेखर ने कहा कि पूर्वी चम्पारण विकास महासम्मेलन में पूर्वी चम्पारण में विकास की संभवानाएं विषय पर चर्चा की जाएगी। महासम्मेलन के विभिन्न सत्रों में पूर्वी चम्पारण में शिक्षा , कृषि आधारित उद्योग, ग्रामीण एवं कुटिर उद्योग, संस्कृति एवं आध्यात्मिक , पर्यटन एवं रोजगार के विकास की संभावनाएं तलाशी जाएगी । पूर्वी चम्पारण के धरोहर पुस्तक में जिले के सभी महत्वपूर्ण स्थलों को चिन्हित कर उनके चित्र के साथ विवरण प्रकाशित किया जाएगा। महासम्मेलन के बाद उन सभी स्थलो के विकास एवं उसके माध्यम से रोजगार सृजन के लिए ब्यापक कार्ययोजना बना कर कार्य किया जाएगा । महासम्मेलन में सभी क्षेत्रों से समाज में विशेष योगदान के लिए चयनित लोगों एवं संस्थाओं को सम्मानित भी किया जाएगा । इस अवसर पर मुख्य रुप से अखिल भारतीय अभिभावक-शिक्षक संघ के संरक्षक रत्नेशवरी शर्मा, नरसिंह बाबा आश्रम के पाठाधीश्वर मुरारी पाण्डेय, जिला संयोजक अरविन्द ठाकुर, संजय मिश्र, रजनीश पुष्कर, धर्मेन्द्र दुबे आदि उपस्थित थे.

 

Previous articleपूर्व केंद्रीय मंत्री राधामोहन सिंह का दावा, एक्जिट पोल होगा फेल, बनेगी एनडीए की पूर्ण बहुमत की सरकार
Next articleपीपराकोठी में ट्रक की ठोकर से बाईक सवार दम्पति बुरी तरह घायल, महिला ने अस्पताल में तोड़ा दम