Home न्यूज अपनी हार स्वीकार करने को तैयार नहीं तेजस्वी, कहा- जनता का फैसला...

अपनी हार स्वीकार करने को तैयार नहीं तेजस्वी, कहा- जनता का फैसला महागठबंधन के पक्ष में, चुनाव आयोग का नतीजा एनडीए के पक्ष में

बिहार डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
महागठबंधन ने गुरुवार को बिहार चुनाव के नतीजों का गुरुवार कोमंथन किया। पटना में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर बैठक में राजद नेता तेजस्वी यादव को नेता चुना गया। इसके बाद पत्रकारों से चर्चा में तेजस्वी बोले,हम चुनाव हारे नहीं हैं, बल्कि हमें जीत मिली है। जनता का फैसला महागठबंधन के पक्ष में आया है। चुनाव आयोग का नतीजा एनडीए के पक्ष में आया है। ये लोग छल कपट के जरिए सरकार का गठन कर रहे हैं।

तेजस्वी यादव ने आगे कहा, 2015 में भी हमारे पक्ष में फैसला आया था, लेकिन भाजपा चोर दरवाजे से सरकार में आ गई थी। इस चुनाव में हमने गरीबी, भूखमरी, रोजगार, नौकरी का मुद्दा उठाया। उन्होंने आरोप लगाया कि नीतीश कुमार सत्ता हथियाना चाहते हैं।

पोस्टल बैलेट बाद में गिने गए
राजद नेता ने कहा, मेरी सीट पर तीन बजे तक मतगणना प्रक्रिया पूरी हो गई थी, लेकिन नतीजों का सर्टिफिकेट आधी रात को दिया गया। उन्होंने कहा, काउंटिंग से एक दिन पहले रात में एक गाड़ी निकली। इस गाड़ी में बैलेट पेपर ले जाया जा रहा था, जबकि चुनाव आयोग का नियम है कि पोस्टल बैलेट की गिनती पहले होती है, लेकिन इस बार पोस्टल बैलेट की गिनती को बाद में किया गया।
31 साल के युवा को नहीं रोक पाए नीतीश
तेजस्वी ने यह भी कहा, देश का युवा, किसान, मजदूर आक्रोश में हैं। इस चुनाव में एक तरफ वरिष्ठ नेताओं की टोली थी, जिसमें सीएम समेत कई लोग शामिल थे। लेकिन ये लोग मिलकर भी 31 साल के युवा को रोकने में सफल नहीं हो पाए। राजद को सबसे बड़ी पार्टी बनने से कोई रोक नहीं पाया।

नीतीश जोड़-तोड़ ना करें
उन्होंने कहा, नीतीश जी राज्य में तीसरे नंबर पर आ गए, बिहार के लोगों ने जनादेश में बदलाव किया। नीतीश जी में थोड़ी सी भी नैतिकता है तो कुर्सी के लिए जोड़-तोड़ गुणा भाग नहीं करें। उन्हें सीएम की कुर्सी से उतर जाना चाहिए।

बिहार की जनता के लिए संघर्ष करेंगे
राजद नेता ने कहा, बिहार चुनाव में मिले जनमत को लेकर पार्टी धन्यवाद यात्रा निकालेगी। हम कहना चाहते हैं कि जिनके पास सरकार है, उनकी बस चार दिन की चांदनी है। अगर जनवरी तक राज्य के लोगों को रोजगार और अन्य समस्याओं का हल नहीं निकलता है तो आंदोलन शुरू किया जाएगा। हम लोग बिहार की जनता के लिए संघर्ष करेंगे।

 

Previous articleपीपराकोठी में देर रात मछली मारने निकले तीन युवकों की सुबह में मिली लाश, मचा कोहराम
Next articleप्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय ने सजाई मां लक्ष्मी की चैतन्य झांकी सजी