Home न्यूज विशेष धावा दल ने 5 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया, संबंधित नियोजकों...

विशेष धावा दल ने 5 बाल श्रमिकों को मुक्त कराया, संबंधित नियोजकों से वसूला जाएगा जुर्माना

Kewlam

मोतिहारी। अशोक वर्मा

श्रम अधीक्षक सत्य प्रकाश के नेतृत्व मे चाइल्ड राइट्स विक के अवसर पर पूर्वी चंपारण जिला के विभिन्न प्रखंडों में विशेष धावा दल के द्वारा विभिन्न प्रतिष्ठानों में सघन जाँच अभियान चलाया गया।
जाँच के क्रम में कुल -05 प्रतिष्ठानों क्रमशः जय माता दी स्वीट्स, सुपर बेस्ट स्टील अलमारी वर्क शॉप, मिठाई नाश्ता दुकान, भोजनालय होटल वर्षा रेस्टोरेंट एंड स्वीट्स एवं चंदन किराना स्टोर से कुल-05 बाल श्रमिकों को धावा दल की टीम द्वारा विमुक्त कराया गया। साथ ही श्रम अधीक्षक सत्य प्रकाश द्वारा यह स्पष्ट किया गया कि पूर्वी चंपारण जिला के सभी प्रखंडों के सभी प्रतिष्ठानों में बाल श्रम से कार्य नहीं कराने के संबंध में बार-बार निर्देशित करने के बावजूद भी कई ऐसे प्रतिष्ठान थे जिसमें बाल श्रमिको से कार्य कराया जा रहा था! उस प्रतिष्ठानों पर सत्यप्रकाश श्रम अधीक्षक पूर्वी चंपारण, मोतिहारी द्वारा विशेष धावा दल के द्वारा उन सभी प्रतिष्ठानों से बाल श्रमिकों को विमुक्त कराया गया!
बाल एवं किशोर श्रम (प्रतिषेध एवं विनियमन) अधिनियम, 1986 के तहत सभी नियोजकों के विरूद्ध संबंधित थाने में प्राथमिकी दर्ज करने की कार्रवाई की जा रही है जबकि सभी विमुक्त बाल श्रमिकों को बाल कल्याण समिति, मोतिहारी के समक्ष उपस्थापित कर उन्हें बाल गृह में रखा गया है।
श्रम अधीक्षक सत्य प्रकाश ने बताया कि बच्चों से प्रतिष्ठान में कार्य कराना बाल एवं किशोर श्रम प्रतिषेध एवं विनियमन के अंतर्गत गैर कानूनी है। बाल एवं किशोर श्रम (प्रतिषेध एवं विनियमन) अधिनियम, 1986 के अतर्गत बाल श्रमिकों से कार्य कराने वाले व्यक्तियों को 20 हजार रूपये से 50 हजार रूपये तक का जुर्माना और 2 वर्षों तक का कारावास का प्रावधान है।

 

इसके अतिरिक्त माननीय सर्वाेच्च न्यायालय के निर्देश के आलोक में सभी नियोजकों से 20,000/- (बीस हजार रू0) प्रति बाल श्रमिक की दर से राशि की वसूली की जाएगी।
आज की इस विशेष धावा दल की टीम में श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, कल्याणपुर प्रभारी मोतिहारी सदर सरफराज अहमद खान, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, केसरिया सुरेंद्र कुमार, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, ढाका, राम प्रकाश, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, पिपराकोठी विकास कुमार, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, मेहसी रवि रंजन कुमार, श्रम प्रवर्तन पदाधिकारी, हरसिद्धि अनिल कुमार सिन्हा, प्रयास संस्था से विजय कुमार शर्मा, आशीष परियोजना डंकन हॉस्पिटल रक्सौल के प्रतिनिधि तथा छतौनी थाना से 05 पुलिस कर्मी एवं एंटी ह्यूमन टै्रफिकिंग यूनिट की टीम शामिल थी।

 

 

Previous article27 फरवरी को मनाई जाएगी शहीद जगदेव प्रसाद एवं माता शेर फातिमा की जयंती
Next articleजिला क्रिकेट लीगः जी.के.स्पोर्ट्स क्रिकेट एकेडमी ने रॉयल क्रिकेट एकेडमी मेहसी को 27 रनों से हराया