Home क्राइम चकिया से अपहृत शिक्षक पुत्र को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर...

चकिया से अपहृत शिक्षक पुत्र को पुलिस ने 24 घंटे के अंदर किया बरामद, तीन अपहर्ता भी धराये

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
मोतिहारी पुलिस ने 24 घंटे के अंदर अपहृत शिक्षक पुत्र को सकुशल बरामद कर लिया। वही तीन बदमाश,फिरौती मांगी गई मोबाइल व अपहरण में प्रयोग वाहन को जब्त कर लिया है। चकिया डीएसपी के नेतृत्व में कार्रवाई की गई है। बता दें कि शुक्रवार की रात्रि चकिया थाना क्षेत्र के कोयला बेलवा गांव से शिक्षक पुत्र की एक बारात देखने के दौरान अपहरण कर लिया गया था। अपहर्ताओं ने फोन कर शनिवार को 30 लाख की फिरौती की मांग की थी। जिसपर चकिया डीएसपी के नेतृत्व में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 24 घंटे में शिक्षक पुत्र को सकुशल बरामद कर लिया है।

बताते चलें कि मामले को लेकर अपहृत किशोर के शिक्षक पिता जितेंद्र कुमार ने थाने में आवेदन दिया था। पुलिस ने मामला दर्ज कर डीएसपी संजय कुमार के नेतृत्व में एक टीम का गठन किया. इसके बाद तकनीकी एवं अन्य स्त्रोतों की सूचना संकलन कर अपहरणकर्ता गिरोह का पहचान कर कल्याणपुर, बंजरिया व पिपरा पुलिस के सहयोग से कल्याणपुर थाना क्षेत्र के गांव बखरी में छापामारी कर किशोर को सकुशल बरामद कर लिया गया। जबकि तीन बदमाश भी दबोच लिये गये, पुलिस गिरफ्तार तीनों बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर पूछताछ में जुटी है।

चकिया डीएसपी संजय कुमार ने बताया कि अपहृत किशोर की सकुशल बरामदगी कर ली गई है। घटना में शामिल तीन अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। अपहरणकर्ताओं की पहचान चकिया थाना क्षेत्र के पुरनछपरा निवासी विकास कुमार, कोयला बेलवा निवासी अजीत कुमार व कल्याणपुर थाना क्षेत्र के गांव बडहरवा महानंद निवासी रमेश कुमार के रूप में कई गई है। वही अपहरण मामले में प्रयुक्त मोबाइल फोन व सीम जिसके द्वारा फिरौती की राशि मांगी गयी थी तथा अपहरण के प्रयोग में लाया गया बाईक भी बरामद किया गया है। पुलिस गिरफ्तार अपराधियो से पूछताछ के बाद न्यायिक हिरासत भेजने के कार्रवाई में जुटी हुई है। वही तीनों की निशानदेही पर अग्रतर कार्रवाई की जा रही है। छापामारी टीम में डीएसपी के साथ पुअनि मनीष कुमार, संदीप कुमार, संजय चैधरी, रविरंजन थानाध्यक्ष बंजरिया व सुनिल कुमार थानाध्यक्ष पिपरा व बालेश्वर यादव शामिल थे ।

बच्चे की सकुशल बरामदगी से परिजन सहित गांव में खुशी का माहौल है, इस बाबत अपहृत किशोर के पिता जितेंद्र कुमार ने बताया कि गांव के उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में सहायक शिक्षक के रूप में पदस्थापित हूं. बरामद बच्चा मेरा चकिया शहर के एक निजी विद्यालय में वर्ग चार का छात्र है, मोबाइल फोन पर अपहरण किये जाने की बात पर पूरे परिवार में कोहराम मच गया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here