Home न्यूज पंचायत चुनाव अपडेटः बिहार में इस बार नौ चरणों में हो सकते...

पंचायत चुनाव अपडेटः बिहार में इस बार नौ चरणों में हो सकते पंचायत चुनाव, सरकार ने प्रमंडलवार मतदान कराने को भेजा प्रस्ताव

बिहार डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
बिहार में इस बार ग्राम पंचायतों के चुनाव प्रमंडलवार करने की तैयारी है। राज्य सरकार के इस प्रस्ताव पर राज्य निर्वाचन आयोग विचार कर रहा है। इस पर शीघ्र निर्णय लिया जाएगा। आयोग के साथ पंचायत चुनाव पर चल रहे मंथन के दौरान पंचायती राज विभाग ने परामर्श दिया है कि प्रमंडल स्तर पर चुनाव कराना कई मायनों में बेहतर होगा। राज्य में नौ प्रमंडल हैं। इस तरह आयोग अंतिम निर्णय ले लेता है तो नौ चरणों में चुनाव संपन्न कराये जाएंगे।

गौरतलब हो कि ग्राम पंचायतों के चुनाव अप्रैल-मई, 2021 में होने हैं। इसको लेकर तैयारी शुरू कर दी गई है। आयोग बूथ स्तर पर मतदाता सूची तैयार करने में जुट गया है। इसको लेकर राज्य निर्वाचन आयुक्त दीपक प्रसाद सभी जिलाधिकारियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से बात कर दिशा-निर्देश जारी कर चुके हैं।
प्रमंडलवार चुनाव कराने को लेकर पंचायती राज विभाग का मानना है कि इससे किसी भी जिले में अधिक दिनों तक आचार संहिता लागू नहीं रहेगा। इससे संबंधित जिले में विकास के कार्य प्रभावित नहीं होंगे। राज्य के हर जिले में कई-कई चरणों में चुनाव होने से काफी अधिक दिनों तक आदर्श आचर संहिता ग्रामीण क्षेत्रों में लागू रहता है। साथ ही जिला प्रशासन भी अधिक दिनों तक चुनाव संपन्न कराने के कार्यों में लगा रहता है। सुरक्षा की दृष्टि से भी प्रमंडलवार चुनाव कराने में सुविधा होगी।

इन पदों के लिए होंगे चुनाव
मुखिया
वार्ड सदस्य
पंच
सरपंच
पंचायत समिति सदस्य
जिला परिषद सदस्य

90 हजार बैलेट यूनिट की होगी खरीद
इस बार ग्राम पंचायत का चुनाव पहली बार ईवीएम से कराने की तैयारी चल रही है। राज्य निर्वाचन आयोग की सलाह पर सरकार ईवीएम खरीदने पर सैद्धांतिक निर्णय ले चुकी है। अब इस पर कैबिनेट की स्वीकृति लिये जाने की कार्रवाई चल रही है। ईवीएम से चुनाव कराने के लिए 15 हजार कंट्रोल यूनिट तथा 90 हजार बैलेट यूनिट की खरीद की जाएगी। चूकि ग्राम पंचायत और ग्राम कचहरी को लेकर छह पद होते हैं, इसलिए 90 हजार बैलेट यूनिट की खरीद की जा रही है। हर बैलेट यूनिट में अलग-अलग पद के लिए लोग वोट करेंगे। एक कंट्रोल यूनिट मतदान कर्मी के पास रहेगा, जिससे सभी छह बैलेट यूनिट जुड़े रहेंगे। एक चरण का चुनाव संपन्न हो जाने के बाद वह ईवीएम दूसरे चरण के चुनाव के लिए भेज दिया जाएगा। इसके पहले उसमें से कार्ड निकाल लिया जाएगा, जिसमें वोट दर्ज रहते हैं। बैलेट यूनिट की खरीद में 90 करोड़ तथा कंट्रोल यूनिट में 17 करोड़ की जरूरत होगी। ईवीएम में इस्तेमाल होने वाले कार्ड की खरीद में 15 करोड़ खर्च होंगे।

राजधानी पटना में जहर खाकर थाने पहुंच गई युवती, लगाने लगी यह आरोप, फिर हुआ ये
बिहार डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
राजधानी पटना के महिला थाने में बुधवार को उस समय अफरातफरी मच गई, जब एक युवती जहर खाकर पहुंच गई। युवती ने कहा कि उसने भाइयों की मारपीट और प्रताड़ना से तंग आकर जहर खा लिया है। यह सुनते ही थाने में तैनात पुलिसकर्मियों के होश उड़ गये। आनन-फानन में युवती को गर्दनीबाग अस्पताल भेजा गया। वहां से पीएमसीएच रेफर किया गया। पीएमसीएच में इलाज करने के बाद युवती को महिला थाना लाया गया। जहां युवती ने बताया कि वह दानापुर कैंट के पास रहती है। उसके पिता की मौत हो चुकी है। तीन भाई हैं। कोई सपोर्ट नहीं करते हैं। उनका घर मां को मिलने वाली पेंशन की राशि से चलता है। उसका कोई ध्यान नहीं रखता। वह एक लड़के से शादी करना चाहती थी, पर लड़का भी धोखा दे दिया।

युवती ने बताया कि वह उसी लड़के से शादी करना चाहती है। लेकिन उसके भाइयों को पता चलेगा तो जान से मार देंगे। उसे घर में सुरक्षा और रहने का अधिकार मिल जाए। क्योंकि उसका भाई अक्सर शराब पीकर आता है और उसके साथ मारपीट करता है। महिला थानाध्यक्ष आरती जायसवाल ने कहा कि युवती को पुलिस सुरक्षा में रखा गया है। उसकी मां और भाइयों को बुलाया गया है।

Previous articleराजधानी पटना में जहर खाकर थाने पहुंच गई युवती, वजह जान उड़ गये पुलिसकर्मियों के होश, फिर हुआ ये
Next articleगोपालगंज में डबल मर्डर, घर मेें घुस धारदार हथियार से प्रहार कर पिता-पुत्र को मार डाला, कई को घायल किया