Home न्यूज 25 दिसंबर को पीएम के किसान संवाद कार्यक्रम को सफल बनाने की...

25 दिसंबर को पीएम के किसान संवाद कार्यक्रम को सफल बनाने की कवायद तेज, प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह ने की बैठक

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के जन्मदिन पर 25 दिसम्बर को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा किये जाने वाले किसान संवाद कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए भाजपा ने अपनी तैयारियां तेज कर दी है।

पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह व प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने शनिवार को किसान संवाद कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए पार्टी के प्रमुख पदाधिकारियों के साथ बैठक की। साथ ही गोरखपुर व काशी क्षेत्र के विधायकों व सांसदों के साथ वर्चअल माध्यम से संवाद भी किया। पार्टी ने तय किया है कि प्रदेश में अपने सभी संगठनात्मक मण्डलों सहित 2500 से अधिक स्थानों पर ’’किसान संवाद कार्यक्रम’’ से आमजन और पार्टी कार्यकर्ता सामुहिक रूप से जुड़े।

पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं प्रदेश प्रभारी राधामोहन सिंह ने कहा कि नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार गांव, गरीब, किसान को समर्पित सरकार है। उन्होंने कहा कि देश में किसानों के हितों में जितना कार्य मोदी सरकार कर रही है। उतना पहले हुआ होता है तो आज किसानों की स्थिति कहीं बेहतर होती। कृषि क्षेत्र में मोदी सरकार ने बजट आंवटन में महत्वपूर्ण ढं़ग से वृद्धि की है। यूपीए सरकार के कार्यकाल में 2013-14 के 21933 करोड़ की तुलना में वर्ष 2020-21 में छह गुना यानि 134399 करोड़ रुपये का बजट दिया।

प्रधानमंत्री किसान योजना के माध्यम से किसानों के खातों में 95979 करोड़ रूपये का हास्तान्तरण हुआ, जिसमें 10.59 करोड़ किसान परिवार लाभान्वित हुए। उन्होंने नए कृषि कानूनों को लेकर विपक्ष द्वारा भ्रम व झूठ फैलाने का आरोप लगाते हुए कहा कि काफी विचार विमर्श के बाद भारत की संसद ने कृषि सुधारों को कानूनी रूप दिया। इन सुधारों से न सिर्फ किसानों के अनेक बंधन समाप्त हुए है बल्कि उन्हें नए अधिकार भी मिले है नए अवसर भी मिले है।

प्रदेश प्रभारी ने कहा कृषि सुधार कानूनों को लेकर विपक्ष भ्रम फैलाकर किसानों को बरगलाने की कोशिश में जुटा है जबकि सच यह है कि एमएसपी मूल्य मिलता रहा है मिलता रहेगा। किसान अब अपनी फसल कही भी किसी को भी बेंच सकते है और ज्यादा मुनाफा कमा सकते है। उन्होंने कहा मोदी सरकार ने किसानों को समस्त सुविधाएं डिजिटली उपलब्ध कराने हेतु डिजिटल एग्री स्टैक जिसके अंतर्गत यूनिवर्सल फार्मर्स सर्विस इंटरकाम के माध्यम से सभी किसानों को सुविधाएं उपलब्ध करायी जाएगी।

 

Previous articleअखिल भारतीय धोबी महासंघ ने मनाई सामाजिक क्रांति के अग्रदूत राष्ट्र संत गाडगे जी महाराज की 66वीं पुण्यतिथि
Next articleट्रेन में सफर के दौरान अचानक हो जाए तबीयत खराब तो ऐसा करने पर सीट पर देखने आएगा डाक्टर