Home न्यूज अब 9 दिसंबर से होगा जिला युवा उत्सव 2022, अपर समाहर्ता की...

अब 9 दिसंबर से होगा जिला युवा उत्सव 2022, अपर समाहर्ता की बैठक में दिये गये ये निर्देश

Neelkanth

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
जिला अपर समाहर्ता पवन कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में जिला स्तरीय युवा उत्सव 2022 के सफल आयोजन को लेकर आयोजन समिति की बैठक हुई। जिसमें नगर भवन में 01 दिसंबर को होने वाले जिला युवा उत्सव-2022 के तिथि में बदलाव करते हुए अगामी 09 दिसंबर की तिथि तय की गई है। बैठक में युवा उत्सव की तैयारी को लेकर आयोजन समिति के सदस्यों को अपर समाहर्ता ने आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

उन्होंने बताया कि अपरिहार्य कारणों से 01 दिसंबर को होने वाले युवा उत्सव की तिथि परिवर्तित कर इसे अब 09 दिसंबर को आयोजित करने का निर्णय लिया गया है।उन्होंने बताया कि युवा उत्सव में पंद्रह से पैंतीस वर्ष तक के प्रतिभागी विभिन्न विधाओं की प्रतियोगिता में भाग ले सकेंगे। जिनकी स्क्रीनिंग सुबह 10 बजे से नगर भवन में शुरु होगी, स्क्रीनिंग में चयनित प्रतिभागियों के बीच उसी दिन शाम पांच बजे से मुख्य प्रतियोगिता आयोजित की जाएगी। युवा उत्सव में चयनित सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागी राज्य स्तरीय युवा उत्सव में अपनी प्रतिभा का परचम लहराएंगे। राज्य स्तरीय युवा उत्सव में सर्वश्रेष्ठ प्रतिभागियों को राष्ट्रीय युवा उत्सव में बिहार के प्रतिनिधित्व के लिए भेजा जाता है।

अपर समाहर्ता श्री सिन्हा ने कहा कि चंपारण की धरती सांस्कृतिक रुप से काफी समृद्ध रही है।चंपारण से निकलकर कई प्रतिभाओं ने दुनियाभर में अपना नाम रोशन किया है। उन्होंने बताया कि चंपारण की कला प्रतिभाओं ने क्रमशरू राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर होने वाले युवा उत्सव में कई बार पुरस्कार जीत कर जिले का नाम रौशन किया है।

उल्लेखनीय है कि जिला स्तरीय युवा उत्सव में शास्त्रीय गायन, शास्त्रीय नृत्य, शास्त्रीय वादन सितार, गिटार, तबला, सरोद, शहनाई, सारंगी,वायलिन,बांसुरी,वीणा, मृदंगम तथा हारमोनियम, समूह गान, एकल लोकगीत, लोकगाथा , सुगम संगीत, समूह लोक नृत्य, लघु नाटक, वक़्तृता ( भाषण) व चाक्षुष कला के अंतर्गत चित्रकला, मूर्तिकला हस्तशिल्प, छायाचित्र के प्रतिभागी भाग लेगे।

Previous article57 वर्षीय बुजुर्ग ने दोस्त की नौ वर्षीय मासूम बच्ची से किया दुष्कर्म, इस जगह की घटना
Next articleअनुदानित माध्यमिक विद्यालयों के बच्चों को भी मिलेगा सरकारी योजनाओं का लाभ