Home न्यूज अब अगले साल मार्च में होगा 37वां दलित साहित्यकार सम्मेलन, कोरोना के...

अब अगले साल मार्च में होगा 37वां दलित साहित्यकार सम्मेलन, कोरोना के कारण आयोजन टला

मोतिहारी। अशोक वर्मा
भारतीय दलित साहित्य अकादमी द्वारा 24 एवं 25 दिसंबर को दिल्ली में आयोजित होने वाला 37 वां दलित साहित्यकार सम्मेलन 2020 का आयोजन कोरोना के बढ़ते प्रभाव के कारण अब 13 और 14 मार्च 2021 को होगा ।इस बात की जानकारी देते हुए बिहार प्रदेश दलित साहित्य अकादमी के अध्यक्ष जगाराम शास्त्री ने बताया कि दिल्ली में कोरोना का प्रभाव एक बार फिर तेजी से बढ़ रहा है इसलिए बहुत से कार्यक्रमों में वहां फेरबदल किया जा रहा है ।

चुकि यह वार्षिक और राष्ट्रीय आयोजन है और इसमें देश भर से प्रतिभागी भाग लेते हैं और काफी लोगों को इसमें विभिन्न सम्मानो से नवाजा जाता है, इसलिए भीड़भाड़ के कारण इस आयोजन को फिलहाल 3 माह के लिए आगे बढ़ाया गया है।उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ सोहन लाल सुमनाक्षर ने बढाई गई तिथि और कार्यक्रम की जानकारी नेट के माध्यम से देश के तमाम प्रदेश अध्यक्षो को भेजा है ।जागाराम शास्त्री ने यह भी बताया कि इस कार्यक्रम में बिहार से वैसे एक सौ लोगों को जिन्होंने दलित उत्थान तथा दलित साहित्य के क्षेत्र में काम कर रहे हैं उन्हें वहां सम्मानित होना है । अब यह कार्यक्रम 3 माह के लिए टल गया। पूर्वी चंपारण जिला कार्यकारी अध्यक्ष मनोज अकेला ने बताया कि उस कार्यक्रम में मोतिहारी की अलीशा सिन्हा महात्मा ज्योतिबा फुले राष्ट्रीय अवार्ड से सम्मानित होने वाली है, वे भी इस कार्यक्रम में जाएगी।जिला अध्यक्ष किरण राम ने बताया कि मोतिहारी से 10
अन्य लोग भी वहां सम्मानित होंगे।छौडादानो प्रखंड अध्यक्ष दयानंद दिवाकर ने बताया कि छौडादानो प्रखंड से पांच लोगों का चयन किया गया है वे लोग भी वहां पर सम्मानित होने वाले हैं।

 

Previous articleसंविधान दिवस पर 25 बिहार बटालियन एनसीसी ने निकाली रैली, मानव श्रृंखला बना संविधान के महत्व को बताया
Next articleविश्व हिन्दू परिषद ने हनुमान गढी स्थित हनुमान मंदिर में कारसेवक सम्मान समारोह का किया आयोजन