नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
सुशांत सिंह राजपूत डेथ मिस्ट्री की लीपापोती में लगी महाराष्ट्र सरकार सीबीआई जांच न कराने पर अड़ी हुई है। दूसरी तरफ वह बिहार पुलिस को सहयोग नहीं कर रही है। इससे एक बात स्पष्ट हो रहा है कि पूरे मामले में कुछ तो ऐसा राज है जिसे महाराष्ट्र सरकार खुलने से डर रही है। जिस तरह से बगैर जांच सुशांत की मौत को सुसाइड बनाने की तत्परता दिखाई गई, वह भी शक के घेरे में हैं।

 

उनकी मानसिक बीमारी की कहानी भी इसी आत्महत्या को जस्टीफाई करने के लिए गढ़ी गइ्र्र है। मगर धीरे-धीरे तथाकथित आत्महत्या की कहानी झूठी लगने लगी है और इशारा सीधे मर्डर की तरफ दिख रहा है। इस बीच इस मामले को लेकर बिहार और महाराष्ट्र सरकार में ठन गई है। बिहार सरकार ने महाराष्ट्र सरकार पर मामले में सहयोग न करने का आरोप लगाया है। दूसरी तरफ मुंबई पहुंची बिहार पुलिस की तफ्तीश जारी है। इसे लेकर बिहार पुलिस की अहम बैठक भी हुई।

ईडी ने दर्ज किया केस
सुशांत सिंह राजपूत केस में प्रवर्तन निदेशालय ने धनशोधन का मामला दर्ज कर लिया है। बता दें कि कल ईडी ने इस मामले पर पूछताछ भी की थी। सुशील मोदी बोले, जांच में बाधा डाल रही है मुंबई पुलिस बिहार के उप-मुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि मुंबई पुलिस बिहार पुलिस की जांच में बाधा डाल रही है। भाजपा की मांग है कि सीबीआई इस केस की जांच करे।

बिहार डीजीपी ऑफिस में अहम बैठक
बिहार डीजीपी ऑफिस में सुशांत मामले पर उच्चस्तरीय बैठक चल रही है। मुंबई में बिहार पुलिस की जांच-पड़ताल को लेकर बैठक बुलाई गई।

फडणवीस का बयान
महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस का कहना है कि मामले को सीबीआई को सौंपे जाने को लेकर एक बड़ी जनभावना है लेकिन राज्य सरकार की अनिच्छा को देखते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) गबन और मनी लॉन्ड्रिंग का एंगल सामने आने के बाद ईसीआर दर्ज कर सकती है। वहीं दूसरी ओर बिहार सरकार के मंत्री ने सुशांत की गर्लफ्रेंड रिया चक्रवर्ती को विष कन्या करार दिया है।

विष कन्या है रियाः महेश्वर हजारी
जनता दल यूनाइडेट (जदयू) नेता महेश्वर हजारी ने रिया चक्रवर्ती को सुपारी किलर करार दिया है। उन्होंने कहा कि रिया सुशांत की जिंदगी में एक सुपारी किलर के तौर पर आईं और उन्हें अपने प्यार के जाल में फंसाया। सुशांत के पैसे तक हस्तांतरित करवा लिए। अब साफ दिख रहा है कि यह आत्महत्या नहीं बल्कि हत्या है। रिया चक्रवर्ती एक विषकन्या की तरह हैं जिसे साजिश के तहत सुशांत के पास भेजा गया था।

सुप्रीम कोर्ट पहुंची बिहार सरकार
वहीं दूसरी ओर इस मामले में बिहार सरकार ने उच्चतम न्यायालय में कैविएट के साथ याचिका दाखिल की है। याचिका में राज्य सरकार का कहना है कि बिहार पुलिस द्वारा मामले की जांच को जारी रहने दिया जाए। सरकार ने रिया चक्रवर्ती की उस मांग का विरोध किया है जिसमें उनका कहना है कि जब तक शीर्ष अदालत में उनकी याचिका लंबित है तब तक बिहार पुलिस को आगे की जांच करने से रोका जाए।

रिया ने सुशांत के परिवार पर लगाए गंभीर आरोप
इसी बीच रिया चक्रवर्ती ने सुशांत के परिवार पर गंभीर आरोप लगाए हैं। मामले को पटना से मुंबई हस्तांतरित करने को लेकर सर्वोच्च अदालत में दाखिल याचिका में उन्होंने यह आरोप लगाए हैं। रिया का आरोप है कि पटना में एफआईआर दर्ज कराने में सुशांत के बहनोई एडीजी ओपी सिंह ने दबाव बनाया।

ईडी ने पटना पुलिस से मांगा विवरण
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने पटना पुलिस से सुशांत सिंह राजपूत की एफआईआर का विवरण मांगा है। सुशांत के पिता की एफआईआर में सुशांत के खाते से रिया चक्रवर्ती द्वारा लगभग 15 करोड़ रुपये निकालने की बात कही गई थी। ईडी ने मामले में पैसे के लेन-देन को लेकर सारी जानकारी मांगी है।

सीबीआई को केस सौंपने की जरूरत नहींः महाराष्ट्र गृह मंत्रालय
महाराष्ट्र के गृह मंत्रालय का कहना है कि बिहार पुलिस यहां आ सकती है क्योंकि वहां एक अलग शिकायत दर्ज की गई है, लेकिन मुंबई पुलिस की जांच सही दिशा में है और हम ठीक से इसकी जांच करेंगे। मामले को सीबीआई को सौंपने की जरूरत नहीं है, महाराष्ट्र पुलिस जांच करने में सक्षम है।

पुलिस नहीं कर रही है सहयोगः ललित किशोर
बिहार सरकार के एडवोकेट जनरल ललित किशोर ने सुशांत आत्महत्या मामले पर कहा कि जब भी एक राज्य से पुलिस दूसरे राज्य में जांच के लिए जाती है, तो संबंधित राज्य सरकार और अधिकारियों को सहयोग करना चाहिए। इस मामले में, यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि वे (मुंबई पुलिस) सहयोग नहीं कर रहे हैं। बिहार सरकार ने अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती की याचिका को चुनौती देते हुए उच्चतम न्यायालय के समक्ष याचिका दायर की है (पटना से मुंबई में दर्ज एफआईआर के हस्तांतरण की मांग)। वकील मुकुल रोहतगी मामले से जुड़े हुए हैं।

बिहार पुलिस खंगाल रही है खाता
बिहार पुलिस मुंबई में सुशांत सिंह राजपूत के खाते को खंगाल रही है। गुरुवार को बांद्रा के एक बैंक में पुलिस जांच के लिए पहुंची थी। बुधवार को भी सुशांत के खाते की जानकारी ली गई। वहीं सुशांत के पिता ने उच्चतम न्यायालय में कैविएट दाखिल की है। इसमें कहा गया है कि उनका पक्ष सुने बिना अदालत कोई आदेश न दे।

ताजा खबरें

पीपराकोठी में एक ही घर की तीन महिलाएं मिली कोरोना पोजिटिव, तुरकौलिया पीएचसी के लिपिक भी संक्रमित

मोतिहारी। राजेश कुमार सिंह तुरकौलिया में आज फिर मिला दो कोरोना संक्रमित मरीज। पीएचसी तुरकौलिया में कार्यरत लिपिक भी कोरोना ...
Read More

अयोध्या में भूमि पूजन पर राममय हुई मोतिहारी की धरती, कला-संस्कृति मंत्री ने डेढ़ क्विंटल लड्डू चढ़ाया, घर-घर जले दीप

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क विश्व हिन्दू परिषद् एवम् बजरंगदल द्वारा अयोध्या मंे भूमि पूजन कार्यक्रम के उपलक्ष्य में आज ...
Read More

पिछले 24 घंटे में कोरोना से ठीक हुए सर्वाधिक 51,706 मरीज, संक्रमण से ठीक होने की दर 67.19 फीसदी, मृत्यु दर भी घटी

नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क कोरोना से एक दिन में सबसे ज्यादा पिछले 24 घंटे में कुल 51,706 लोग ...
Read More

पाकिस्तान को खुश करने के लिए चालबाज चीन ने भारत के अनुच्छेद 370 की समाप्ति पर कही ये बात

नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क एलएसी पर भारत से लगातार टकराव का रवैया अपनाए चीन अपने पीठू पाकिस्तान को ...
Read More