Home न्यूज इस मशहूर निर्देशक की परपोती से शादी रचाने जा रहे सन्नी दयोल...

इस मशहूर निर्देशक की परपोती से शादी रचाने जा रहे सन्नी दयोल के पुत्र करण देओल, पढ़ें पूरी खबर

मनोरंजन डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
अभिनेता धर्मेंद्र के पोते और अभिनेता सनी देओल के बेटे करण देओल जल्द ही द्रिशा रॉय के साथ शादी के बंधन में बंध जाएंगे। इसके साथ ही फिल्म इंडस्ट्री के दो सबसे बड़े परिवारों के बीच रिश्तेदारी हो जाएगी।

एक तरफ धर्मेंद्र, सनी देओल, बॉबी देओल का बॉलीवुड में अपना दबदबा रहा है। वहीं द्रिशा रॉय भी एक फिल्मी परिवार से ताल्लुक रखने वाली हैं। बता दें कि वह बॉलीवुड के दिग्गज फिल्म निर्माता बिमल रॉय की परपोती हैं। करण और द्रिशा ने गुपचुप तरीके से सगाई कर ली है। बताया जा रहा है कि धर्मेंद्र की तबीयत खराब रहने की वजह से दोनों की शादी जल्द कराने की योजना बनाई जा रही है।

धर्मेंद्र और बिमल रॉय के बीच काफी गहरी दोस्ती थी। निर्देशक बिमल रॉय ने धर्मेंद्र को 1963 में आई फिल्म बंदिनी में मौका दिया और इस तरह उन्होंने धर्मेंद्र को उनकी ही-मैन वाली छवि के अलावा एक पावरफुल अभिनेता के रूप में स्थापित किया।

बिमल रॉय से काम मांगने पहुंचे थे धर्मेंद्र
अपने संघर्ष के दिनों में धर्मेंद्र बिमल रॉय से काम मांगने पहुंचे थे। जब बतौर हीरो उनकी फिल्म शोला और शबनम की चार रीलें तैयार हो गई थीं। तब धर्मेंद्र ने बिमल रॉय से फिल्म देखने की गुजारिश की, जिसे उन्होंने मान भी लिया। लेकिन, फिल्म शोला और शबनम के निर्देशक ने उन चार रीलों को दिखाने से इनकार कर दिया। तब धर्मेंद्र ने किसी तरह फिल्म के एडिटर अनंत आप्टे को मनाकर बिमल रॉय को वो चार रीलें दिखवा दीं। इसके बाद बिमल रॉय ने धर्मेंद्र को अपनी फिल्म बंदिनी में काम करने का मौका दिया। इस फिल्म के बाद धर्मेंद्र को निर्देशक बिमल रॉय की ज्यादातर फिल्मों में काम करने का मौका मिला। उनकी फिल्में सफल होने लगी और वे हिंदी सिनेमा के स्टार बन गए।

इन फिल्मों के लिए याद किए जाते हैं
बता दें कि निर्देशक बिमल रॉय को फिल्म दो बीघा जमीन, परिणीता, बिराज बहू, देवदास, मधुमती, सुजाताश्, पारख और बंदिनी जैसी शानदार फिल्में बनाने के लिए खासतौर से जाना जाता है। हिंदी सिनेमा के महत्वपूर्ण निर्देशकों में उनकी गिनती होती है।
अधूरा रह गया आखिरी प्रोजेक्ट
बिमल रॉय ने धर्मेंद्र और शर्मिला टैगोर को लकेर फिल्म श्चौतालीश् की शुरुआत की थी, लेकिन फिल्म आधी ही शूट हो पाई थी कि बिमल रॉय का निधन हो गया। वहीं उनकी पत्नी उनके इस आखिरी और अधूरे प्रोजेक्ट को पूरा करना चाहती थीं, लेकिन उन्हें किसी का साथ नहीं मिला।

Previous articleशनिवार को होगा ज्ञानवापी मस्जिद में सर्वे, वाराणसी प्रशासन ने मुस्लिम पक्ष के लोगों के साथ की मीटिंग
Next articleब्रहमाकुमारीज संस्था चिरैया में कर रही चमत्कारिक यौगिक खेती, खरीदार भी दे रहे प्राथमिकता