Home कैंपस समाचार जेईई मेन 2021ः अब साल में चार बार आयोजित होगी परीक्षा, पहला...

जेईई मेन 2021ः अब साल में चार बार आयोजित होगी परीक्षा, पहला चरण 23 से 26 फरवरी को, शिक्षा मंत्री ने की ये अहम घोषणाएं

नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन 2021 को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने बुधवार को छात्रों को संबोधित किया। शिक्षा मंत्री ने कहा कि जेईई (मेन) के संबंध में प्राप्त सुझाव के आधार कई बड़े बदलाव किए गए है। उन्होंने बताया कि परीक्षा चार बार आयोजित की जाएगी। चारों चरणों में से सर्वश्रेष्ठ प्राप्तांकों के आधार पर मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी।

इससे पहले निशंक ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर लिखा है, हमने जेईई (मेन) के संबंध में आपके सुझावों की जांच की है और उसी के आधार पर मैं परीक्षा के शेड्यूल की घोषणा कर रहा हूं। केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि अबकी बार, जेईई मेन परीक्षा के चरणों की संख्या, प्रश्न पत्र में क्षेत्रीय भाषा को शामिल करने, एक परिवर्तित परीक्षा पैटर्न, परीक्षा केंद्र की बढ़ी हुई संख्या जैसे अहम बदलाव देखने को मिलेंगे।

पहला चरण 23 से 26 फरवरी को

केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि इस बार श्रम्म् डंपद 2021 साल में चार बार आयोजित की जाएगी। इसका पहला चरण 23 से 26 फरवरी, 2021 तक आयोजित किया जाएगा। इसके बाद मार्च, अप्रैल और मई 2021 में अगले तीन सत्र होंगे।  परीक्षा का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी यानी एनटीए द्वारा किया जाएगा।
हर साल लगभग 8-9 लाख उम्मीदवार
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने बताया कि हर साल लगभग 8-9 लाख उम्मीदवार प्प्ज्, छप्ज्, अन्य केंद्रीय वित्तपोषित तकनीकी संस्थानों (ब्थ्ज्प्), संस्थानों ध् विश्वविद्यालयों द्वारा वित्त पोषित ध् मान्यता प्राप्त ध् राज्य सरकारों में दाखिले के लिए जेईई मेन के लिए पंजीकरण करते हैं।

नेगेटिव मार्किंग नहीं होगी
निशंक ने बताया कि एनटीए ने जेईई मेन के लिए नया परीक्षा पैटर्न तैयार किया है। अभ्यर्थियों को 90 प्रश्नों में से केवल 75 का उत्तर देना होगा। इसमें 15 वस्तुनिष्ठ प्रकार के प्रश्न होंगे जिनके लिए कोई नकारात्मक मूल्याकंन नहीं होगा।
छात्रों को कई अवसर मिलेंगे
केंद्रीय शिक्षा मंत्री ने कहा कि जेईई मेन 2021 एक वर्ष में चार बार आयोजित करने के पैटर्न से छात्रों को उनकी गलतियों और कमजोर क्षेत्रों को जानने का मौका मिलेगा। यह बदलाव उन्हें उनके स्कोर में सुधार के लिए कई अवसर प्रदान करेगा। जिससे परीक्षा के अगले चरण में अच्छी तरह से तैयारी कर सकेंगे।

13 क्षेत्रीय भाषाओं में भी होगा पेपर
जेईई मेन 2021 का पेपर कई हिंदी, अंग्रेजी समेत कई भारतीय भाषाओं में उपलब्ध कराया जाएगा। छात्र अपनी सुविधानुसार प्रश्न पत्र की भाषा का चयन कर सकेंगे। प्रमुख भाषाओं में हिंदी, अंग्रेजी, असमी, गुजराती, बंगाली, कन्नड़, मराठी, मलयालम, उड़िया, पंजाबी, तमिल, तेलुगू और उर्दू में उपलब्ध होगा। हालांकि सभी सभी क्षेत्रीय भाषाओं के साथ प्रश्न अंग्रेजी भाषा में भी रहेंगे।
रजिस्ट्रेशन यहां करें :
संयुक्त प्रवेश परीक्षा (जेईई) मेन 2021 के योग्य उम्मीदवार jeemain.nta.nic.in पर ऑनलाइन पंजीकरण कर सकते हैं। इसके लिए एप्लिकेशन विंडो शुरू होनेे पर आवेदन किया जा सकता है।
रजिस्ट्रेशन फीस :
जेईई मेन 2021 के लिए फीस में अलग-अलग श्रेणी के अनुसार छूट प्राप्त होगी।  सामान्य/ओबीसी श्रेणी के भारतीय छात्रों के लिए 650 रुपए और विदेशी छात्रों के लिए 3000 रुपए रखी गई है। जबकि महिलाओं और एससी/एसटी/दिव्यांग और ट्रांसजेंडर श्रेणी भारतीय छात्रों के लिए 325 रुपए और विदेशी छात्रों के लिए 1500 रुपए होगी। फीस संबंधी अधिक जानकारी और छूट पात्रता शर्तों के लिए jeemain.nta.nic.in पर जारी ब्रोशर पढ़ें।

Previous articleगुड न्यूजः प्रथम चरण के क्लीनकल ट्रायल में कोवैक्सीन ने दिखाया बेहतर परीणाम, नहीं दिखा कोई प्रतिकूल प्रभाव
Next articleसरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे युवा रहे सावधान, आईबी में भर्ती का यह विज्ञापन है फर्जी, पढ़ लें पूरी खबर