Home क्राइम मुजफ्फरपुर में पिस्तौल के बल पर बच्ची को अगवा कर तांत्रिक व...

मुजफ्फरपुर में पिस्तौल के बल पर बच्ची को अगवा कर तांत्रिक व उसके सेवक ने किया सामूहिक दुष्कर्म, भड़के लोग

बिहार डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
मुजफ्फरपुर के कांटी थाने के एक मोहल्ले में मंगलवार कि रात तांत्रिक व उसके सेवक ने 11 वर्षीया बच्ची को पिस्तौल की नोक पर अगवा कर किराये के कमरे में गैंगरेप किया। वइससे गुस्साए परिजन व लोगों ने बवाल किया। आरोपितों की धुनाई करने के बाद कांटी पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने एक आरोपित की पत्नी को भी गिरफ्तार किया है। पीड़िता की मां ने थाने में एफआईआर दर्ज कराई है। इसमें सीतामढ़ी के सोनबरसा थाना क्षेत्र के तांत्रिक दीपक झा, बेलसंड थाने के चंदौली के चंदन कुमार और उसकी पत्नी श्वेता रानी को आरोपित किया है। चंदन कुमार मुजफ्फरपुर के कृषि विभाग में संविदा पर नौकरी करता है। वह दो साल से बच्ची के घर के बगल में किराये के मकान में रहता है। चार दिन पहले तांत्रिक को बुलाकर लाया था।

वहीं पीड़िता की मां ने पुलिस को बताया कि वह और पति शहर के एक किराना दुकान में नौकरी करते हैं। रात करीब साढ़े नौ बजे घर का दरवाजा खुलने की आहट मिली, लेकिन कोई नहीं दिखा। इसपर आशंका हुई। थोड़ी देर बाद पति घर पहुंचे। उस वक्त पहले से गेट खुला था और बेटी नहीं थी। इसके बाद सभी शोर मचाने लगे। लोग जुट गए। बेटी की तलाश शुरू हुई। आरोपितों से भी पूछताछ की गई थी। रात करीब दो बजे तक नहीं मिलने के बाद सभी अपने-अपने घर लौट गए। सुबह करीब पांच बजे मां गेट पर बैठी थी। इस बीच बच्ची ठंड से कांपते व रोते हुए आधे कपड़े में घर पहुंची और अपने साथ हुए गैंगरेप की जानकारी दी। इस दौरान लोग जुट गए और आरोपितों को दबोच लिया।

आरोपित की पत्नी पर महिलाओं ने किया हमला
कांटी पुलिस के पहुंचने के बाद दोनों आरोपितों को लोगों ने सौंप दिया। इस दौरान पुलिस ने कमरे को बाहर से बंद कर दिया, जबकि चंदन की पत्नी कमरे में थी। आरोपित तांत्रिक और चंदन को पुलिस थाने ले गई। इसके बाद चंदन की पत्नी श्वेता को पकड़ने कांटी थाने से महिला पुलिस पदाधिकारी पहुंची। श्वेता को घर से निकालने के दौरान ही मोहल्ले की महिलाओं ने उसपर हमला कर दिया। उसे अपने कब्जे में लेकर हाथापाई करने लगी। कड़ी मशक्कत के बाद महिला पुलिस पदाधिकारी ने श्वेता को भीड़ से निकला। इसके बाद कांटी थाने ले गई।

एएसपी पश्चिमी सैयद इमरान मसूद ने बताया कि सदर अस्पताल में पीड़िता की मेडिकल जांच कराई गई है। एफएसएल जांच के लिए उसके कपड़े जब्त किए गए हैं। गुरुवार को कोर्ट में धारा 164 का बयान भी कराया जाएगा। आरोपितों की भी मेडिकल जांच होगी। इनके कपड़े भी जब्त कर लिए गए हैं। पुलिस ने आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद कमरे में ताला बंदकर दिया है। कमरे की एफएसएल जांच कराई जाएगी। पुलिस ने कमरे से शराब की बोतल व ग्लास भी बरामद किया है। इस संबंध में अलग से एक्साइज एक्ट में केस दर्ज किया है। इसमें भी तीनों को आरोपित किया है। बताया गया है कि तांत्रिक ने रात को शराब पी थी। आरोपित चंदन ने शराब पीने से इनकार किया है।

स्कॉर्पियो सवार को ग्रामीणों ने दौड़ाकर पीटा
घटना की खबर पाकर पीड़िता के मोहल्ले में लोगों का जमघट लग गया। इस बीच एक स्कॉर्पियो सवार पहुंचा। खुद को एक जनप्रतिनिधि का पड़ोसी होने का दावा किया और लोगों पर केस मैनेज करने को लेकर दबाव डालने लगा। इसपर लोगों उसे दबोच लिया और दौड़ाकर पिटाई। किसी तरह वह स्कॉर्पियो लेकर भागा।

Previous articleब्रेकिंगः तुरकौलिया में एक किलो चरस के साथ दो अंतरराज्यीय तस्कर गिरफ्तार, चोरी की गाड़ी से करने आये थे सौदा
Next articleपाकिस्तान के इस प्रांत में भीड़ ने मंदिर में तोड़फोड़ कर लगाई आग, मौलवी के भाषण के बाद भड़के लोग