Home न्यूज सरकारी उदासीनता से आजिज प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन’ ने आंदोलन तेज करने का...

सरकारी उदासीनता से आजिज प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन’ ने आंदोलन तेज करने का लिया निर्णय, 21 दिसम्बर को एक दिनी भूख हड़ताल

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ऑफ टीचर्स वेलफेयर पूर्वी चंपारण की जिला कार्यकारिणी एवं नगर कमेटी मोतिहारी की संयुक्त बैठक इमैनुअल स्कूल परिसर में संपन्न हुई ,बैठक की अध्यक्षता कार्यकारी अध्यक्ष एनके राही नेकी तथा संचालन नगर सचिव मृत्युंजय कुमार मिश्रा ने किया।

इस मौके पर जिला अध्यक्ष भूषण कुमार एवं जिला सचिव संतोष कुमार रौशन ने कहां की आगामी 21 दिसंबर को प्राइवेट स्कूल एसोसिएशन ऑफ टीचर्स वेलफेयर के तत्वाधान में निजी विद्यालयों के शिक्षक एवं संचालक अम्बेडकर भवन, मोतिहारी में एक दिवसीय भूख हड़ताल पर बैठेंगे, हड़ताल के दौरान जिलाधिकारी को एक प्रतिनिधिमंडल द्वारा ज्ञापन सौंपा जाएगा।

भूख हड़ताल ऐतिहासिक होगी,जिसमें पूरे जिले के स्कूल भाग लेंगे। श्री भूषण व श्री रौशन ने कहा की विगत 10 महीने से निजी विद्यालयों के शिक्षक व संचालक आर्थिक तंगी से परेशान हैं, साथ ही प्रत्येक महीना स्कूल गाड़ियों का किस्त, विद्यालय भवन का किराया , प्रत्येक महीना बिजली बिल आदि के बोझ तले दब चुके है। सभी निजी संस्थान सरकारी उदासीनता का दंश झेल रहे हैं तथा सरकारी उपेक्षा का शिकार हो रहे हैं, एसोसिएशन धरना व भूख हड़ताल के माध्यम से सरकार से निजी विद्यालयों को आर्थिक सहायता की मांग करेगी, मांगे नहीं पूरी होने पर आंदोलन को और धारदार बनाया जाएगा, एसोसिएशन के जिला संयोजक श्री शिव किशोर सिंह, विधि सलाहकार कौशल किशोर, नगर अध्यक्ष राजीव रंजन आदि ने संयुक्त रूप से कहा की सरकार अगर हमारी मांगे नहीं मानी तो चरणबद्ध आंदोलन चलाया जाएगा। जिला उपाध्यक्ष शत्रुघ्न तिवारी,नगर उपाध्यक्ष धर्मेंद्र मिश्रा, नगर कोषाध्यक्ष कपिलेश्वर कुमार जिला कोषाध्यक्ष अभय मिश्रा, कुमार कृष्ननदन ने कहा कि सरकार सभी सेक्टरों में आर्थिक सहायता किया है तो निजी शिक्षण संस्थानों के साथ सौतेला व्यवहार क्यों इसके लिए एसोसिएशन अब चुप नहीं बैठेगा। बैठक में एक दिवसीय धरना की रूपरेखा तैयार की गई, इस मौके राहुल गुप्ता, रीना देवी, राजेश कुमार,प्रमोद कुमार, वरुण पांडे कार्तिक प्रसाद पवन रमन आदि ने अपने विचार व्यक्त किया, धन्यवाद ज्ञापन श्रवण मोहंती ने किया।

Previous articleखुदानगर में चल रहे अवैध बूचड़खाने पर प्रशासनिक उदासीनता पर विहिप ने जताया आक्रोश, बेमियादी अनशन को चेताया
Next articleलंबे इंतजार के बाद नवनिर्मित मोतीझील पुल पर आवागमन तो हुआ चालू, मगर इस समस्या से राहगीर दो-चार