Home न्यूज डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने सूक्ष्म सिंचाई जागरूकता रथ को दिखाई हरी...

डीएम शीर्षत कपिल अशोक ने सूक्ष्म सिंचाई जागरूकता रथ को दिखाई हरी झंडी, नुक्कड़ नाटक के माध्यम से भी दी जाएगी जानकारी

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना (सूक्ष्म सिंचाई) अंतर्गत जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक द्वारा सात निश्चय पार्ट-2 प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना अन्तर्गत प्रचार-प्रसार हेतु सूक्ष्म सिंचाई जागरूकता रथ को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।
सूक्ष्म सिंचाई रथ तथा नुक्कड़ नाटक जिले के सभी प्रखंडों में परिभ्रमण हेतु जायेगा।
संबंधित प्रचार वाहन (सिंचाई रथ) तथा नुक्कड़ नाटक द्वारा प्रत्येक प्रखंड में 3 कार्यक्रम का आयोजन प्रतिदिन किया जाएगा। इसके लिए तिथिवार एवं प्रखंडवार रूट चार्ट तैयार किया गया है। प्रत्येक कार्यक्रम की अवधि 30 मिनट की होगी।
सूक्ष्म सिंचाई योजना अन्तर्गत पूर्वी चम्पारण जिले के विभिन्न प्रखंण्डों में ड्रीप एवं मिनी स्प्रिंकलर का अधिष्ठापन किया जा रहा है। विगत तीन वर्षों में इस जिले में 116 कृषकों के खेत पर 269.19 एकड़ रकवा में ड्रीप एवं मिनी स्प्रिंकलर का अधिष्ठापन किया गया है…

वर्ष 2022-23 में जिसमें अबतक 125.75 एकड़ रकवा का कार्यादेश निर्गत कर कार्य कराया जा रहा है। इस कार्यक्रम अन्तर्गत सरकार के द्वारा 90 प्रतिशत अनुदान कृषकों को दिया जा रहा है…
इस कार्यक्रम के व्यापक प्रचार-प्रसार हेतु उद्यान निदेशालय के द्वारा सूक्ष्म सिंचाई जागरूकता रथ के साथ लाइव डेमोनेस्ट्रेशन एवं नुक्कड़ नाटक का आयोजन जिले के सभी प्रखण्डों में आयोजन कराया जा रहा है, ताकि अधिक से अधिक संख्या में किसान इससे लाभान्वित हो सकें…
फसलवार अनुसंशित ड्रीप सिंचाई पद्धतिरू-गन्ना, पपीता, केला, आम, लीची, अमरूद, सब्जी, लत्तीदार फसल, प्याज एवं आलू इत्यादि

फसलवार अनुसंशित मिनी स्प्रिंकलर पद्धति:-धान, गेहूॅ, आलू, प्याज, सब्जी दलहन एवं तेलहन इत्यादि…
ड्रीप सिंचाई से होने वाले लाभ
1. लगभग 60 प्रतिशत जल की बचत
2. 25-30 प्रतिशत उर्वरक खपत में कमी
3. 30-35 प्रतिशत लागत में कमी
4. 25-35 प्रतिशत अधिक उत्पादन
5. बेहत्तर उत्पादन का उत्पाद
मुफ्त सामूहिक नलकुप
लघु एवं सीमांत कृषकों हेतु ड्रीप सिंचाई के साथ-साथ 2.5 हेक्टर के समूह (कम से कम) पाॅच किसान हेतु शत प्रतिशत् अनुदान पर शर्तों के साथ सामूहिक नलकुप का प्रावधान भी है।
योजना के लाभ लेने हेतु आवेदन की प्रक्रियाः- योजना का लाभ लेने हेतु किसानों को उद्यान निदेशालय के वेबसाइट htpp//horticulture.bihar.gov.in पर आनलाईन आवेदन कर सकते है। विशेष जानकारी के लिए सहायक निदेशक उद्यान एवं संबंधित प्रखंड के प्रखंड उद्यान पदाधिकारी से सम्पर्क कर सकते है…
उक्त अवसर पर जिला कृषि पदाधिकारी, प्रखंड उद्यान पदाधिकारी एवं रणधीर भारद्वाज समेत अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे..=
कृषि जल अनमोल है, इसे पानी में ना बहायें। बूंद बूंद का उपयोग करें, ड्रीप सिंचाई अपनायें…

Previous articleमोतिहारी इंजीनियरिंग कॉलेज में बनेगा 27 करोड़ की लागत से छात्रावास, सीएम ने वीसी के माध्यम से किया शिलान्यास
Next articleमोतिहारी में दिनदहाड़े स्वर्ण व्यवसायी पुत्रों को गोलीमार लाखों की लूट, सात-आठ की संख्या में आये थे बदमाश