– भारत के अलावा अमेरिका व ब्राजील में तेजी से बढ़ रहे आंकड़े, जहां हुई कोरोना की शुरुआत वहां थम गए नए मामले
– 21 जुलाई तक दुनिया के 20 प्रतिशत मरीज भारत में मिलने लगे 


हेल्थ डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
कल तक सरकार यहीं कहती नजर आ रही थी कि हमारे यहां संक्रमण दर व मृत्युदर काफी कम है, मगर सच्चाई यह है कि हमारे यहां अब कोरोना के केस की रफ्तार की दर अमेरिका से ज्यादा हो चुकी है। जी हां, दुनिया में कोरोना संक्रमण के मामले डेढ़ करोड़ के पार हो गए हैं। छह महीने पहले दुनियाभर में 300 से भी कम केस थे। इनमें भी ज्यादातर मामले चीन में ही थे। इन छह महीनों में कोरोना दुनिया के 215 देशों तक पहुंच चुका है। चीन जहां से कोरोना की शुरुआत हुई, वहां ये कंट्रोल कर लिया गया। लेकिन, भारत, अमेरिका और ब्राजील जैसे देशों में इस वक्त ये सबसे तेजी से बढ़ रहा है। पहले 50 लाख केस होने में 186 दिन लगे थे। 50 लाख से एक करोड़ केस होने में 38 दिन लगे, तो एक से डेढ़ करोड़ केस सिर्फ 25 दिन में आ गए।

 

भारत: 50 दिन में रोज आने वाले मामले 300 प्रतिशत बढ़े

भारत में पिछले बीस दिन में हर दिन आने वाले कोरोना के मामलों में 65 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। ये इजाफा अमेरिका से ढाई गुना ज्यादा है। जून की शुरुआत में देश में हर दिन औसतन 9,115 मामले आ रहे थे। पिछले 50 दिन में हर दिन आने वाले मामलों में 300 प्रतिशत से ज्यादा का उछाल है। हम यहां भी अमेरिका के मुकाबले ज्यादा हैं। मई की शुरुआत में हर दिन 2,907 मामले आ रहे थे। तब से अब तक हर दिन आने वाले मामलों में 1171 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। हमारे देश में संक्रमण की रफ्तार हर महीने तेजी से बढ़ रही है।
इस वक्त दुनिया में रोज 2 लाख से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। इनमें से 20 प्रतिशत मरीज भारत में मिल रहे हैं। इस वक्त दुनिया के एक चैथाई मरीज सिर्फ अमेरिका में हैं। अमेरिका और ब्राजील में हर रोज आने वाले मामले स्थिर हो चुके हैं। लेकिन, भारत में इनकी संख्या लगातार बढ़ रही है। इससे दुनिया में रोज मिलने वाले मरीजों में भारत की हिस्सेदारी और बढ़ने की आशंका है।
रोज मिल रहे मरीजों में लगातार बढ़ रही भारत की हिस्सेदारी
दुनियाभर में रोज मिल रहे मरीजों में भारत की हिस्सेदारी लगातार बढ़ रही है। 15 मई तक दुनिया के 3.8 प्रतिशत मरीज भारत में मिल रहे थे। एक जून तक ये हिस्सेदारी बढ़कर 7.3 प्रतिशत हो गई। 15 जून तक दुनिया के 8.1 प्रतिशत मरीज भारत में आने लगे। एक जुलाई तक ये हिस्सेदारी 10.8 प्रतिशत तक पहुंच गई। 21 जुलाई तक दुनिया के 20 प्रतिशत मरीज भारत में मिलने लगे।

अमेरिकाः पिछले 50 दिन में हर दिन मिल रहे केस में 200 प्रतिशत का इजाफा

कोरोना संक्रमण फैलने की रफ्तार दुनिया में सबसे तेज अमेरिका में है। ये रफ्तार लगातार बढ़ रही है। एक से पांच जुलाई के दौरान यहां हर दिन औसतन 53 हजार से ज्यादा मामले आ रहे थे। 17 से 21 जुलाई के दौरान ये औसत बढ़कर 67 हजार के करीब पहुंच गया। यानी, पिछले बीस दिन में हर दिन मिलने वाले मामले 27ः बढ़े हैं। जून की शुरुआत में हर दिन औसतन 22,765 मामले आ रहे थे। पिछले 50 दिन में इसमें 200ः का इजाफा हुआ है। हालांकि, मई की शुरुआत के मुकाबले जून की शुरुआत में अमेरिका में कम मामले आ रहे थे। लेकिन इसके बाद ये लगातार बढ़ रहा है।

ब्राजीलः संक्रमण की रफ्तार 23 प्रतिशत तक घटी

ब्राजील इस वक्त दुनिया का दूसरा सबसे संक्रमित देश है, लेकिन जुलाई में यहां कोरोना की रफ्तार पर थोड़ा ब्रेक लगा है। महीने की शुरुआत में यहां हर रोज औसतन 39,220 मामले आ रहे थे। जो 21 जुलाई तक घटकर 30,359 हो गए। यानी, 21 दिन में ब्राजील में हर रोज आने वाले मामलों में 23ः से ज्यादा की कमी आई है।

हर दिन मिलने वाले मरीज लगातार घट रहे

रूस में भी हर दिन आने वाले मामलों की रफ्तार लगातार कम हो रही है। रूस में जुलाई की शुरुआत में जहां हर रोज औसतन 6 हजार 880 मामले आ रहे थे। 16 से 20 जुलाई के दौरान यहां हर रोज औसतन 5 हजार 35 मामले आए। यानी, पिछले बीस दिन में रूस में हर रोज आने वाले मामलों में 27 प्रतिशत की कमी आई है।

साउथ अफ्रीकाः जुलाई में हर रोज आ रहे मामलों की रफ्तार अमेरिका से भी तेज

साउथ अफ्रीका उन देशों में शामिल है जहां जुलाई में सबसे तेजी से संक्रमण फैल रहा है। जून की शुरुआत में यहां हर रोज औसतन 2,150 मामले आ रहे थे। 17 से 21 जुलाई के दौरान हर रोज औसतन 11,515 मामले आए। यानी, पिछले 50 दिन में हर रोज आने वाले मामलों में 482 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। ये बढ़त भारत और अमेरिका से भी ज्यादा है। इस वक्त रोज आने वाले मामलों में दुनिया के 20 प्रतिशत केस भारत में आ रहे हैं। जबकि अमेरिका की हिस्सेदारी 30 प्रतिशत से ज्यादा है।

पिछले बीस दिन में यहां हर रोज आने आने वाले मामलों में 37 प्रतिशत का इजाफा हुआ है। यानी, जुलाई के लिहाज से देखें तो सबसे संक्रमित दस देशों में हर रोज आने वाले मामलों में भारत के बाद सबसे ज्यादा इजाफा साउथ अफ्रीका में ही है।

पेरूः नए मामले आने की रफ्तार जून से कम लेकिन लगातार बढ़ रही

पेरू में 15 जून तक तेजी से कोरोना फैल रहा था। हर दिन आने वाले मामलों की संख्या 5 हजार को पार कर गई थी। जुलाई की शुरुआत में ये गिरकर साढ़े तीन हजार तक आ गई। 17 से 21 जुलाई के दौरान हर रोज औसतन 3,991 नए मामले सामने आए। यानी, जुलाई की शुरुआत के मुकाबले 17 प्रतिशत ज्यादा मामले।

मैक्सिकोः भारत और साउथ अफ्रीका की तरह यहां भी लगातार बढ़ रही नए केस की रफ्तार

मैक्सिको में हर दिन आने वाले मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है। मार्च के शुरुआती 5 दिनों में दो से तीन दिन में एक मामला आ रहा था। अप्रैल शुरू हुआ तो हर रोज 159 मामले आने लगे। मई की शुरुआत में आंकड़ा डेढ़ हजार के करीब पहुंच गया तो जून के शुरू में साढ़े तीन हजार। जब जुलाई शुरू हुई तो हर रोज 6,302 दो मामले आ रहे थे। 17 से 21 जुलाई के बीच ये औसत बढ़कर 6,352 पहुंच गया। दुनिया के दस सबसे संक्रमित देशों में भारत, साउथ अफ्रीका और मैक्सिको ही ऐसे देश हैं जहां हर रोज आने वाले मामलों की रफ्तार लगातार बढ़ी है।

-दुनिया के 10 सबसे संक्रमित देशों में शामिल स्पेन, चिली और ब्रिटेन में कोरोना की रफ्तार रुकी
दुनिया के दस सबसे संक्रमित देशों में से चार देश ऐसे हैं जहां कोरोना की रफ्तार पर ब्रेक लगा है। रूस में जहां मई में 12 हजार के करीब मामले भी आए लेकिन उसके बाद हर रोज आने वाले मामलों का औसत घटा। ऐसे ही चिली में 17 जून के बाद हर रोज आने वाले मामलों का औसत लगातार घट रहा है।

–ब्रिटेन में अप्रैल में सबसे ज्यादा औसतन साढ़े पांच हजार के करीब मामले आ रहे थे। उसके बाद यहां हर रोज आने वाले मामलों का औसत लगातार घटा है। जुलाई की शुरुआत में ये औसत कुछ सौ तक चला गया था। हालांकि, पिछले कुछ दिनों में यहां मामले फिर आने लगे हैं। स्पेन में भी कोरोना मार्च-अप्रैल में पीक पर था। उसके बाद यहां कोरोना की रफ्तार लगातार घटी है।

ताजा खबरें

पीपराकोठी में एक ही घर की तीन महिलाएं मिली कोरोना पोजिटिव, तुरकौलिया पीएचसी के लिपिक भी संक्रमित

मोतिहारी। राजेश कुमार सिंह तुरकौलिया में आज फिर मिला दो कोरोना संक्रमित मरीज। पीएचसी तुरकौलिया में कार्यरत लिपिक भी कोरोना ...
Read More

अयोध्या में भूमि पूजन पर राममय हुई मोतिहारी की धरती, कला-संस्कृति मंत्री ने डेढ़ क्विंटल लड्डू चढ़ाया, घर-घर जले दीप

मोतिहारी। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क विश्व हिन्दू परिषद् एवम् बजरंगदल द्वारा अयोध्या मंे भूमि पूजन कार्यक्रम के उपलक्ष्य में आज ...
Read More

पिछले 24 घंटे में कोरोना से ठीक हुए सर्वाधिक 51,706 मरीज, संक्रमण से ठीक होने की दर 67.19 फीसदी, मृत्यु दर भी घटी

नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क कोरोना से एक दिन में सबसे ज्यादा पिछले 24 घंटे में कुल 51,706 लोग ...
Read More

पाकिस्तान को खुश करने के लिए चालबाज चीन ने भारत के अनुच्छेद 370 की समाप्ति पर कही ये बात

नेशनल डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क एलएसी पर भारत से लगातार टकराव का रवैया अपनाए चीन अपने पीठू पाकिस्तान को ...
Read More