Home न्यूज बिहारः कोरोना काल में किसी डाॅक्टर पर हुआ हमला तो खैर नहीं,...

बिहारः कोरोना काल में किसी डाॅक्टर पर हुआ हमला तो खैर नहीं, गृह विभाग जारी किए सख्त आदेश

बिहार डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
अब किसी भी डाॅक्टर पर हमला किये या क्लिनिक में तोड़फोड़ की कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि कोरोना संकट में राजधानी पटना समेत कई जिलों से डॉक्टरों पर हमले की खबर आ रही है, इसके बाद गृह विभाग ने सभी डीएम और एसपी को आदेश जारी किया। डीजीपी और गृह विभाग के अपर मुख्य सचिव के संयुक्त आदेश में कहा गया है कि कोरोना की दूसरी लहर का व्यापक प्रभाव है, आम लोगों में भय व्याप्त है। ऐसे में चिकित्सकों एवं अस्पताल प्रबंधन पर अनुचित दबाव डालने तथा दुव्र्यवहार व मारपीट की घटनाएं सामने आ सकती हैं, जिससे विधि व्यवस्था की गंभीर समस्या होने की संभावना है।
गृह सचिव और डीजीपी ने कहा है कि सभी डीएम और एसपी अपने जिले में इलाज हेतु चिन्हित अस्पतालों, कोविड-19 सेंटर के आसपास विधि व्यवस्था का समुचित प्रबंध करेंगे, साथ ही वहां पर दंडाधिकारी की प्रतिनियुक्ति करेंगे. उन क्षेत्रों में जहां ऐसे अस्पताल हैं पेट्रोलिंग की व्यवस्था सुदृढ़ की जाएगी और गश्त की संख्या में वृद्धि की जाए. सभी जिलों के एसपी स्थिति का आकलन करें और संवेदनशील क्षेत्रों मैं स्टैटिक पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति करें. जिला प्रशासन यह सुनिश्चित करेगा कि कोविड-19 के इलाज में लगे सभी चिकित्सक, अस्पताल एवं अन्य संस्थानों को विधि व्यवस्था में शामिल पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों के मोबाइल नंबर उपलब्ध कराएं. मरीजों के परिजन या अन्य व्यक्ति इलाज में बाधा पहुंचाए तो तत्काल पुलिस को सूचना दे सकें.

असमाजिक तत्वों पर करें सख्त कार्रवाई

यदि कोई व्यक्ति या समूह चिकित्सक, चिकित्सा कर्मी और अस्पताल प्रबंधन को इलाज के दौरान कोई हानि या क्षति पहुंचाता है तो उनके विरुद्ध बिहार चिकित्सा सेवा संस्थान और व्यक्ति सुरक्षा अधिनियम 2011 तथा आईपीसी की धाराओं के तहत कार्रवाई करें। सभी डीएम एवं एसपी प्रमुख चिकित्सकों एवं प्रतिष्ठित अस्पताल के प्रबंधन के साथ बैठक करें। जिला प्रशासन ऑक्सीजन, कोविड-19 में सहायक दवाओं एवं अन्य वस्तुओं की कालाबाजारी रोकने के लिए आवश्यक कदम उठाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here