Home क्राइम बिहारः पूर्णिया से अपहृत लोजपा नेता की फिरौती लेने के बाद भी...

बिहारः पूर्णिया से अपहृत लोजपा नेता की फिरौती लेने के बाद भी हत्या, सड़क पर उतरे लोग

बिहार डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
पूर्णिया से अपहृत लोजपा नेता अनिल उरांव की अपहर्ताओं ने फिरौती की रकम लेने के बाद भी हत्या कर दी। जिले के केनगर थाना क्षेत्र के झुंनी इस्तम्बरार पंचायत के डंगरहा गांव से उनका शव बरामद किया गया है। जिसके बाद से यहां तनाव की स्थिति उत्पन्न हो गई। हत्या के बाद लोगों का आक्रोश भड़क गया और सड़क पर उतरकर उन्होंने हंगामा शुरू कर दिया है। फिलहाल पुलिस पूरी स्थिति को नियंत्रित करने में जुटी है। अपने नेता की हत्या के बाद प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए लोजपा के कार्यकारी अध्यक्ष राजू तिवारी व प्रदेश प्रवक्ता कृष्णा सिंह कल्लू ने कहा कि बिहार में अपराधियों का राज हो गया है। अब तो अपराधी अपहरण कर फिरौती भी ले रहे और हत्या भी कर दे रहे हैं। राजू तिवारी ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से परिजन को 50 लाख की आर्थिक मदद और सरकारी नौकरी देने की मांग की है।

बीते गुरुवार को शहर से अनिल उरांव का अपहरण कर लिया गया, उसके बाद अपहर्ताओं ने 10 लाख रुपये की फिरौती मांगी। शुक्रवार को उन्हें रुपये दे भी दिये गए इसके बाद अपहर्ताओं ने कहा कि आधा घंटा में अनिल उरांव को छोड़ दिया जाएगा, लेकिन अपहर्ताओं ने उन्हें रिहा करने की जगह उनकी हत्या कर दी है और शव को फेंक दिया।

गौरतलब है कि अनिल उरांव दो बार कटिहार के मनिहारी से लोजपा से विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं. वह लोजपा के आदिवासी प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष भी हैं. उनके हत्या की सूचना से जहां परिजनों में कोहराम मचा है, वहीं समर्थक काफी आक्रोशित हैं. अनिल उरांव का घर पूर्णिया कोर्ट स्टेशन के बगल में जेपी नगर में है. उनके पिता जे पी उरांव भी आदिवासियों के बड़े नेता थे. अनिल उरांव की बहन सीमा उरांव पूर्व में बिहार महिला आयोग के सदस्य थे. सीमा उरांव ने ही परसो शाम में खजांची हाट थाना में अनिल उरांव के अपहरण की लिखित शिकायत की थी इसके बावजूद अभी तक बरामद नहीं होने से लोगों में काफी नाराजगी है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here