Home न्यूज वाल्मीकिनगर में मार्गशीर्ष पूर्णिमा के अवसर पर 81 वीं नारायणी गंडकी महाआरती...

वाल्मीकिनगर में मार्गशीर्ष पूर्णिमा के अवसर पर 81 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम आयोजित

बेतिया डेस्क। यूथ मुकाम न्यूज नेटवर्क
वाल्मीकिनगर में मार्गशीर्ष पूर्णिमा के अवसर पर भारत नेपाल सीमा पर अवस्थित बेलवा घाट परिसर में स्वरांजलि सेवा संस्थान द्वारा 81 वीं नारायणी गंडकी महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ चर्चित कलाकार डी. आनंद, समाजसेवी संगीत आनंद, शिवनाथ प्रसाद स्वर्णकार, प्रधानाध्यापक विजयप्रकाश मद्धेशिया एवं संवेदक अविनाश कुमार ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करके किया।

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए डी . आनंद ने कहा कि कोविड-19 के चलते सादे समारोह में कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। हर महीने पावन पूर्णिमा के अवसर पर पर्यावरण संरक्षण एवं संवर्धन के निमित्त जन जागरूकता फैलाने के उद्देश्य से इस महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया जाता है। समाजसेवी संगीत आनंद ने कहा कि 6 नवंबर 2014 से नियमित रूप से इस महाआरती कार्यक्रम का आयोजन किया जा रहा है। अब तक इस कार्यक्रम में देश विदेश के संत महात्मा एवं विशिष्ट अतिथि गण भाग ले चुके हैं। वाल्मीकि धाम एवं त्रिवेणी धाम की पहचान है यह महा आरती। प्रधानाध्यापक श्री विजय प्रकाश ने कहा कि संस्था द्वारा विगत 8 वर्षों से मानवीय संवेदनाओं को समझते हुए मानसिक बीमार एवं दिव्यांग जनों की सेवा की जाती है। उन्हें सुबह शाम घूम घूम कर निशुल्क भोजन तथा ठंड के मौसम में गर्म कपड़े एवं कंबल आदि प्रदान किया जाता है। पंडित अनिरुद्ध द्विवेदी ने कथा पूजा एवं हवन के माध्यम से कोविड-19 के खात्मे की कामना की। संवेदक श्री अविनाश कुमार ने कहा कि नारायणी नदी के तट पर होने वाली यह एक ऐतिहासिक महाआरती है। पावन पूर्णिमा तिथि को संगम तट पर कथा पूजा एवं भजन कीर्तन करने से मनोवांछित फलों की प्राप्ति होती है। स्वरांजलि सेवा संस्थान की राष्ट्रीय अध्यक्षा श्रीमती अंजू देवी ने कहा कि वाल्मीकि धाम भारत एवम् त्रिवेणी धाम नेपाल में पर्यटन की तमाम संभावनाएं हैं। विगत दो दशक से संस्था द्वारा सीमावर्ती इलाकों के पर्यटन क्षेत्रों को अंतर्राष्ट्रीय मानचित्र पर लाने की कोशिश की जा रही है। जिसके माध्यम से यहां के बेरोजगार लोगों को रोजगार मिल सके। इस मौके पर ओम प्रकाश साह, सतीश कुमार ,एडिटर स्वरांजलि सरगम, आस्था सिंह, अनमोल सिंह, गायिका बबीता राज ,प्रदीप कुमार, बाल कलाकार आयुष चैहान, गोविंद मंडल, शिवनाथ प्रसाद स्वर्णकार, देव कुमार के साथ-साथ वर्चुअल रूप से अश्वमेध पीठाधीश्वर स्वामी उपेंद्र पाराशर जी महाराज, कोटि होम आश्रम नेपाल के पीठाधीश गुरु वशिष्ट जी महाराज, भाजयुमो के पूर्व जिला अध्यक्ष श्री दुर्गा प्रसाद गुप्ता, समाजसेवी आशुतोष कुमार, कलाकार बजरंगी निगम, बिरहा गायक श्याम देव साहनी , अजय भक्त, बालक दास बाबा जी महाराज, मोतीलाल ढकाल, अभिनेत्री कुमारी संगीता , आदि ने अपनी उपस्थिति दर्ज कराई। गंगा मैया की जय, सदानीरा माता की जय, वाल्मीकि धाम की जय, आदि नारों से महा आरती स्थल गुंजायमान होता रहा। आने वाले 2021 वर्ष में कोविड-19 ऐसी महामारी ना रहे ऐसी कामना की गई।

Previous articleमोतिहारी में भी खुलेगा मेडिकल काॅलेज, डीएम ने बैठक में की घोषणा, शहर के विकास के लिए तैयार होगा मास्टर प्लान
Next articleअंतर्राष्ट्रीय ऑनलाइन कला प्रदर्शनी में शार्क देशों को हरा चम्पारण के मधुरेन्द्र ने झटका गोल्ड